जिला प्रशासन की मेहनत पर सरकारी कर्मचारी ही लगा रहे पलीता, स्वास्थ्य विभाग और लोनिवि के दो कर्मचारी फिर पहुंचे हरिद्वार रूडकी से रूद्रप्रयाग, मकान मालिक की आपत्ति


जिला प्रशासन की मेहनत पर सरकारी कर्मचारी ही लगा रहे पलीता, स्वास्थ्य विभाग और लोनिवि के दो कर्मचारी फिर पहुंचे हरिद्वार रूडकी से रूद्रप्रयाग, मकान मालिक की आपत्ति 
-भूपेन्द्र भण्डारी/केदारखंड एक्सप्रेस 
रूद्रप्रयाग। जनपद मुख्यालय में अब प्राइवेट कस्टक्शन कम्पनियों के अलावा सरकारी कर्मचारी भी जिला प्रशासन के कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रयासों पर पलीता लगा रहे हैं। लगातार हरिद्वार रूडकी से यहाँ लोगों का आवागमन हो रहा है ऐसे में दोराय नहीं कि जनपद में  यही लोग कोरोना संक्रमण का कारण बन सकते हैं।

सोमवार को (1) विनोद कुमार पुत्र नमाकर सिंह, निवासी रूडकी हरिद्वार जो की मुख्य चिकित्सा कार्यालय रूद्रप्रयाग  में कार्यरत है, (2) अरविंद कुमार पुत्र बाल सिंह, निवासी  हरिद्वार लोनिवि रुद्रप्रयाग  में कार्यरत व (3) रविन्द्र कुमार  पुत्र ज्ञान चंद्र, रूडकी से रूद्रप्रयाग के पीडब्लूडी कोलोनी में पहुंच गये। और  सीधे किराये के कमरे पर तीनों लोग चले गये। मकान मालिक नरेन्द्र जगवाण को जब इसका पता चला तो उन्होंने ने इस बात का विरोध किया और सभासद सुरेन्द्र रावत, वार्ड के नोडल अधिकारी और पुलिस  को जानकारी दी, बावजूद इन्हें अन्यंत्र क्वारानटाइन नहीं किया गया। मकान मालिक नरेन्द्र जगवाण  ने कहा कि हमारी मकान पर कई अन्य फैमली वाले किरायेदार रहते है। जिससे न केवल अन्य किरायेदार भयभीत हैं बल्कि  इससे कोरोना  संक्रमण का खतरा भी बढ रहा है। ऐसे में हरिद्वार और रूडकी से बिना क्वारानटाइन  किये ही सीधे किराये के कमरों में आ रहे हैं, जबकि ये लोग कमरों में रहने के बजाय बाहर भी घूम रहे हैं। मकान मालिक नरेन्द्र जगवाण ने बताया कि इन लोगों को जब क्वारानटाइन के लिए कहा गया तो ये लोग बतामीजी भी करने लगे। 

वार्ड सभासद सुरेन्द्र रावत का कहना है कि जिलाधिकारी के साथ ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और नोडल अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है। लेकिन अब तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि किरायेदारो को कैसे होम क्वोरानटाइन किया जा रहा है यह समझ से परे है। क्योंकि जो लोग बाहर से यहा आ रहे हैं वे या तो अकेले हैं और या फिर तीन-तीन लोग एक ही कमरे में होम क्वोरानटाइन हो रखे हैं। ऐसे में ये लोग सब्जी, राशन और अन्य जरूरी सामान के लिए बाजार भी जा रहे है जिससे अगर इनमें से कोई कोरोना संक्रमित होता है तो वह इस संक्रमण को पूरे जनपद में फैला सकता है।

कल से लगातार मकान मालिक वार्ड सभासद और स्थानीय लोगों द्वारा इन्हें क्वारानटाइन करने की मांग की जा रही है लेकिन अमल नहीं हो पा रहा है। उधर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एस के झा ने बताया कि इन्हें होम क्वारानटाइन के निर्देश दिये गये हैं अगर ये लोग होम क्वारानटाइन के नियमों का उल्लंघन करते हैं तो इन पर कार्रवाई की जायेगी।

लेकिन सवाल यह है कि कोरोना के दृष्टिगत अति संवेदनशील रूडकी  हरिद्वार जैसे जिलों से जो कर्मचारी रुद्रप्रयाग पहुंच रहे  हैैं क्या  उसे होम क्वारानटाइन करना सही है? अगर हा तो उन पर निगरानी की जिम्मेदारी किसकी है और उन्हें 14 दिनों तक राशन, सब्जी और अन्य दैनिक आवश्यक सामग्री उन्हें कौन मुहैया करवायेगा?
जिला प्रशासन की मेहनत पर सरकारी कर्मचारी ही लगा रहे पलीता, स्वास्थ्य विभाग और लोनिवि के दो कर्मचारी फिर पहुंचे हरिद्वार रूडकी से रूद्रप्रयाग, मकान मालिक की आपत्ति जिला प्रशासन की मेहनत पर सरकारी कर्मचारी ही लगा रहे पलीता, स्वास्थ्य विभाग और लोनिवि के दो कर्मचारी फिर पहुंचे हरिद्वार रूडकी से रूद्रप्रयाग, मकान मालिक की आपत्ति Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 05, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.