रुद्रप्रयाग: कलयुगी संतानों की बेरूखी देखिए… मारपीट कर बुजुर्ग मां को घर से निकाल दिया


रुद्रप्रयाग: कलयुगी संतानों की बेरूखी देखिए… मारपीट कर बुजुर्ग मां को घर से निकाल दिया

डेस्क : केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
रुद्रप्रयाग: बच्चें, बुढ़ापे में अपने मां बाप का सहारा बनते हैं, लेकिन अगर वही बच्चे बुढ़ापे में अपने मां-बाप को मारपीट कर घर से निकाल कर बेसहारा कर दें, तो इससे दुखद बात और क्या होगी. पहली तस्वीर में रूद्रप्रयाग जिले के उखीमठ में सड़क पर बैठी ये बूढ़ी महिला यूं ही भीख मांगने को मजबूर नही हुई, उखीमठ के जाल तल्ला गांव की इस बुर्जुग महिला को उसके बेटे व बहु ने मारपीट कर पहले तो हाथ तोड़ दिया और फिर घर से निकाल कर बेसहारा बेघर बना दिया. सोशल मीडिया में ये घटना वायरल हुई तो लोगों ने निंदनीय  बताकर  बेटे.बहु को खूब खरी-खोटी सुनाई और कई समाझसेवी बुर्जुग महिला की मदद के लिए आगे आ रहे हैं और लोगों ने बुर्जगों से इस तरह की घटनाओं को लेकर अपने आस पास भी नजर रखने की पहल शुरू होने लगी है।

दूसरी घटना अगस्त्यमुनि विकासखण्ड़ के कण्डारा गांव की है, इस बुर्जुग महिला को भी उसके बेटे और बहु ने मारा और हाथ तोड़ कर घर से निकाल दिया, महिला अब अपने छोटे बेटे के साथ बेघर होकर दर-दर भटक रही है, बुर्जुग महिला का कहना है कि उसके स्वर्गवासी पति भारतीय सेना से रिटार्यड थे, उसके बेटे बहु उससे पेंन्शन को लेकर मारपीट करते हैं.
समाज मे बढ रही बुर्जुगों से मारपीट की घटनाओं को लेकर अब रूद्रप्रयाग पुलिस सतर्क हो गयी है, पुलिस की ऐसी घटनाओं पर अब पैनी नजर है, एसपी रूद्रप्रयाग नवनीत सिंह का कहना है कि बुर्जुगों को ऐसी घटनाओं से डरने की जरूरत नही है बल्कि पुलिस उनकी सहायता के लिए हरदम तैयार है. पुलिस इसके लिए लॉकडाउन के बाद घर-घर जाकर अभियान भी शुरू करेगी।

एक तरफ 21वीं सदी के भारत में अंतिम छोर तक पहले के मुकाबले हम खुद को पढा लिखा और संस्कारवान की श्रेणी रख रहे हैं तो दूसरी ओर अपने बूढ़े मॉ-बाप से इस तरह मारपीट करना अपराध ही नही बल्कि घृणित सामाजिक कृत्य भी है और हमारे संस्कारों के पतन को भी दर्शा रहा है। ऐसे में हमें भी ये देखने की आवश्यकता है कि हमारे आसपास भी कोई बुर्जुग इस तरह की घटनाओं का शिकार तो नही हो रहा। 
जन अधिकार मंच के अध्यक्ष मोहित ङिमरी का कहना है कि समाज में इस तरह की घटनाओं से ऐसा लग रहा है जैसे मानवीय रिश्तों और नैतिक मूल्यों का ह्रास हो गया हो।  बेटे द्वारा मा के साथ इस तरह की घटना निंदनीय है। ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस प्रशासन को   जागरूकता अभियान चलाये जाने बेहद जरूरी है।
रुद्रप्रयाग: कलयुगी संतानों की बेरूखी देखिए… मारपीट कर बुजुर्ग मां को घर से निकाल दिया रुद्रप्रयाग: कलयुगी संतानों की बेरूखी देखिए… मारपीट कर बुजुर्ग मां को घर से निकाल दिया Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on May 15, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.