लाकडाउन में विद्यार्थीयों को घर बैठे पढाई करने के लिए किताब-काॅपियों की डोर-टू-डोर होगी होम डिलीवरी


लाकडाउन में विद्यार्थीयों को घर बैठे पढाई करने के लिए किताब-काॅपियों की डोर-टू-डोर होगी होम डिलीवरी 
-संदीप बर्त्वाल/केदारखंड एक्सप्रेस 
चमोली। लाॅकडाउन अवधि में विद्यार्थियों को पढ़ाई करने के लिए किताबों की समस्या आड़े न आये। इसके लिए चमोली जिला प्रशासन ने मुहिम शुरू कर दी है। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बुक विक्रेताओं के माध्यम से विद्यार्थीयों को घर बैठे पढाई करने के लिए किताब-काॅपियों की डोर-टू-डोर होम डिलीवरी कराने के आदेश जारी कर दिए है। तहसील स्तर पर बुक विक्रेताओं को संबधित एसडीएम के माध्यम से किताबों की होम डिलीवरी हेतु अनुमति लेनी होगी। जिला प्रशासन के इस कदम से जहाॅ विद्यार्थियों में खुशी की लहर है वही बुक विक्रेताओं ने भी जिला प्रशासन के इस कदम की सराहना करते हुए आभार व्यक्त किया है।
जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने कहा कि लाॅकडाउन के बीच घरों में बैठे बच्चों की आॅनलाइन पढाई तो शुरू हो गई है, लेकिन किताबें न मिलने के कारण उनको पढाई में दिक्कतें आ रही थी। इसको देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि जिले में बुक डिपो को डोर-टू-डोर किताबों की डिलीवरी करने की अनुमति दी जा रही है, लेकिन दुकान खोलने की अनुमति नही होगी। जिला मुख्यालय में बुक विक्रेताओं को डोर-टू-डोर किताबें पहुॅचाने के लिए अपर जिलाधिकारी चमोली तथा तहसील स्तर पर उप जिलाधिकारी से अनुमति लेनी होगी। शहरी क्षेत्रों में सुबह 7ः00 बजे से अपराह्न 1ः00 बजे तक वाहनों से होम डिलीवरी की अनुमति होगी। जिलाधिकारी ने बताया कि कोई भी विद्यार्थी इन बुक डिपो संचालकों के मोबाईल नम्बर पर सम्पर्क कर किताबें मंगवाने के लिए ऑर्डर कर सकते है। 

सोमवार को ऋषि पुस्तक केंन्द्र, मंदिर मार्ग, गोपेश्वर को बुक वितरण हेतु अनुमति जारी कर दी गई है। ऋषि पुस्तक केन्द्र से किताब व काॅपियां मंगवाने के लिए कोई भी विद्यार्थी मोबाइल नबर 9897867846 पर संपर्क कर सकते है।
लाकडाउन में विद्यार्थीयों को घर बैठे पढाई करने के लिए किताब-काॅपियों की डोर-टू-डोर होगी होम डिलीवरी लाकडाउन में विद्यार्थीयों को घर बैठे पढाई करने के लिए किताब-काॅपियों की डोर-टू-डोर होगी होम डिलीवरी Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on April 20, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.