देवभूमि में दहेज को लेकर एक और बेटी की मौत का मामला


देवभूमि में दहेज को लेकर एक और बेटी की मौत का मामला
डेस्क : केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
रुद्रप्रयाग:- दहेज़ प्रथा से टिहरी के पिपोला गांव की वंदना का मामला शांत नहीं हुआ कि हालिया मामला रुद्रप्रयाग जिले से आ गया है। यहां विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। बताया जा रहा है कि विवाहिता ने आत्महत्या की है , लेकिन युवती के परिजनों का कहना है कि उसे खुदकुशी के लिए मजबूर किया गया। परिजनों ने बताया कि ससुराल वाले युवती पर दहेज में 15 लाख रुपये लाने का दबाव बना रहे थे। आरोप यह भी है कि युवती के पति का किसी और महिला से अवैध संबंध थे। तनाव के चलते युवती ने अपनी जान दे दी।
घटना गुप्तकाशी के त्युड़ी गांव की है, जहां कुसुम नाम की युवती ने खुदकुशी कर ली। कुसुम की उम्र सिर्फ 20 साल थी, कुछ तनावों ने कुसुम को अपनी जिंदगी खत्म कर लेने पर मजबूर कर दिया।
कुसुम के पिता की तहरीर के मुताबिक कुसुम का पति विपिन सिंह रावत फौज में है। कुसुम के परिजनों ने पति और ससुरालवालों पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पुलिस को दी गई तहरीर में कुसुम के पिता ने बताया कि शादी के बाद भी विपिन किसी महिला से फोन पर बात किया करता था। विपिन और उस महिला के बीच अवैध संबंध थे। कुसुम ने विरोध किया तो विपिन उसे प्रताड़ित करने लगा। आरोप है कि विपिन अपनी पत्नी कुसुम पर दहेज में 15 लाख रुपये देने का दबाव बना रहा था। उसने कुसुम को धमकी दी थी कि अगर 15 लाख रूपये नहीं मिले तो वो कुसुम को घर से बाहर निकाल देगा। विपिन ने दूसरी शादी करने की धमकी भी दी थी।
मानसिक प्रताड़ना से तंग आकर कुसुम ने खुदकुशी कर ली। कुसुम के पिता ने आरोपियों के खिलाफ थाने में तहरीर दी है, उन्होंने पुलिस से आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। रुद्रप्रयाग पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है
देवभूमि में दहेज को लेकर एक और बेटी की मौत का मामला देवभूमि में दहेज को लेकर एक और बेटी की मौत का मामला Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on April 24, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.