भारतीय स्टेट बैंक ने महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया मास्क बनाने के लिए कपडा, ग्रामीण को वितरित किया सेनिटाइजर


भारतीय स्टेट बैंक ने महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया मास्क बनाने के लिए कपडा, ग्रामीण को वितरित किया सेनिटाइजर
-डेस्क : केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
रूद्रप्रयाग। कोरोना जैसी महामारी के इस दौर में भारतीय स्टेट बैंक रुद्रप्रयाग द्वारा लगातार अलग-अलग रूप में मदद की जा रही है। मास्क की कमी के कारण महिला स्वयं सहायता समूहों को जहाँ  मास्क बनाने का जिम्मा दिया गया है वहीं स्टेट बैंक द्वारा इन महिला स्वयं सहायता समूहों को मास्क बनाने के लिए नि:शुल्क कपडा दिया जा रहा है।

भारतीय स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान, रुद्रप्रयग के ग्राम मनसूना व पठाली के एक्स महिला प्रशिक्षर्थियों द्वारा बीडीओ उखीमठ, जिला प्रशासन के सहयोग से कोरोना से बचाव के लिए मास्क बनाए जा रहे है।  मुख्य विकास अधिकारी एस एस चौहान ने बताया कि प्रशासन को लगभग 15000मास्क की जरूरत है, जो एनआरएलएम समूहों की प्रशिक्षित महिलाओं  द्वारा तैयार किए जाने हैं। सहायक महाप्रबंधक लीड बैंक एस के शर्मा ने महिला समूहों को सोशल डिस्टेंसिंग व साफ सफाई के प्रति जागरूक किया गया। आर सेटी निदेशक दिनेश चन्द्र सिंह नेगी, मुख्य प्रबंधक आर एस राणा द्वारा महिला समूहों को मास्क बनाने के लिए  लगभग 100 मीटर कपड़ा दिया गया तथा सैनिटाइजर व डिटाल आदि का वितरण किया गया। मुख्य प्रबंधक द्वारा 100 मास्क खरीदे गए जो पुलिस को वितरित किये जायेगें। इस अवसर पर बीडीओ उखीमठ यशपाल आर्य,बीएमएम मनोज कोठारी,ग्राम सभा प्रधान आदि उपस्थित थे।

इससे पूर्व भारतीय स्टेट बैंक रुद्रप्रयाग की विभिन्न शाखाओं द्वारा लगातार लाकडाउन में गरीबों को भोजन उपलब्ध करवाने की अभिनव पहले की गई जो अब भी जारी है।
भारतीय स्टेट बैंक ने महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया मास्क बनाने के लिए कपडा, ग्रामीण को वितरित किया सेनिटाइजर भारतीय स्टेट बैंक ने महिला स्वयं सहायता समूहों को दिया मास्क बनाने के लिए कपडा, ग्रामीण को वितरित किया सेनिटाइजर Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on April 16, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.