प्रशासन के कोविड-19 व्हाट्सएप ग्रुप में खंड विकास अधिकारी ने डाली अपनी अश्लील फोटो : विधायक ने कहा यह है घोर नीचता


प्रशासन के कोविड-19 व्हाट्सएप ग्रुप में खंड विकास अधिकारी ने डाली अपनी अश्लील फोटो : विधायक ने कहा यह है घोर नीचता
-कुलदीप राणा आज़ाद/केदारखंड एक्सप्रेस 
रुद्रप्रयाग। वैश्विक महामारी कोरोना जैसे अति संवेदनशील बीमारी से निपटने के लिए रुद्रप्रयाग जिला प्रशासन ने एक व्हाट्सएप ग्रुप का निर्माण किया था जिसमें कोरोना से निपटने के लिए अधिकारियों को दिशा निर्देश वह महत्वपूर्ण जानकारियां साझा की जाती थी लेकिन जिन अधिकारियों के भरोसे कोरोना के खिलाफ जिला प्रशासन युद्ध लड़ रहा है वे अधिकारी  कोरोना वायरस को कितनी गंभीरता से ले रहे हैं इसकी पोल तब खुलती है जब जिले के एक खंड विकास अधिकारी द्वारा इस व्हाट्सएप ग्रुप में अपनी नग्न अश्लील फोटो साझा की जाती है।




जी हां रुद्रप्रयाग में प्रशासन के काबिल अधिकारी कुछ ऐसे ही कारनामे कर रहे हैं। कोविड-19 से निपटने के लिए प्रशासन द्वारा बनाया गया समस्त अधिकारियों का व्हाट्सएप ग्रुप में उस वक्त भूचाल  आ गया जब खंड विकास अधिकारी द्वारा अपनी अश्लील फोटो इस ग्रुप में सेंड कर दी गई। हैरानी की बात तो यह है कि इस ग्रुप में जिले की कई महिला अधिकारी भी जुड़ी हुई हैं। ऐसे में खंड विकास अधिकारी द्वारा इस तरह की अश्लील फोटो  व्हाट्सएप ग्रुप में  डालकर न केवल मर्यादाओं को तार-तार किया गया  बल्कि  वैश्विक महामारी  कोरोना  से निपटने के लिए  प्रशासनिक अधिकारियों की गंभीरता को भी साफ तौर पर जाहिर कर दिया है।




प्रशासन के इस महत्वपूर्ण ग्रुप में खंड विकास अधिकारी द्वारा डाले गए अश्लील फोटो के बाद पूरे जिले में हड़कंप मच गया। सूत्रों की माने तो जिले के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा इस ग्रुप को तुरंत हटाने की निर्देश दिए हैं। जिसके बाद ग्रुप से एक-एक करके सभी अधिकारियों को हटा दिया गया और ग्रुप को बंद कर दिया गया है। इस पूरे वाक्य की जिले भर में चर्चाएं चल रही है और बुद्धिजीवी वर्ग इसे प्रशासन के अधिकारियों की लापरवाही के साथ ही घोर संवेदनहीनता बता रहे हैं।

विधायक भरत सिंह चौधरी ने कहा कि यह है घौर नीचता

पूरे मामले पर विधायक भरत सिंह चौधरी ने कहा कि कोविड-19 के इस महत्वपूर्ण ग्रुप में एक जिम्मेदार अधिकारी द्वारा अश्लील  फोटो डालना घौर नीचता है। उन्होंने कहा कि ऐसे अधिकारी को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाना चाहिए। एक तरफ सरकारो के साथ  आम जनमानस कोविड-19 पूरी शिद्दत और ईमानदारी के साथ लड़ाई लड़ रहा है तो दूसरी तरफ इस तरह के अधिकारियों ने इसे मजाक बना कर रखा है जो क्षमा योग्य नहीं है।

कांग्रेस के जिलाध्यक्ष ईश्वर बिष्ट ने कहा कोविड-19 जैसे प्रशासन के महत्वपूर्ण ग्रुप में एक अधिकारी द्वारा इस तरह का कार्य करना अश्लील फोटो साझा करना कोरोना के प्रति प्रशासन की गंभीरता को दर्शाता है प्रशासन के इस ग्रुप में कहीं महिला अधिकारी भी जुड़े हैं ऐसे में इस तरह की अश्लील सामग्री ग्रुप में प्रेषित करना बहुत ही निंदनीय है जिलाधिकारी को ऐसे अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्यवाही करनी चाहिए।
उधर पूरे मामले पर संबंधित खंड विकास अधिकारी का कहना है कि उनके गुप्तांगों में एलर्जी है जिसकी फोटो उन्हें डॉक्टर को भेजनी थी लेकिन भूलवश हुए कोविड-19 के ग्रुप में सेंड हो गई है उनकी मंशा इस महत्वपूर्ण ग्रुप में ऐसी फोटो साझा करना नहीं था।




प्रशासन के कोविड-19 व्हाट्सएप ग्रुप में खंड विकास अधिकारी ने डाली अपनी अश्लील फोटो : विधायक ने कहा यह है घोर नीचता प्रशासन के कोविड-19 व्हाट्सएप ग्रुप में खंड विकास अधिकारी ने डाली अपनी अश्लील फोटो : विधायक ने कहा यह है घोर नीचता Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on April 25, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.