Breaking News

Wednesday, 18 March 2020

सरकार के तीन साल उपलब्धियों से भरे - भरत चौधरी

फाइल फोटो मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और रूद्रप्रयाग विधायक भरत सिंह चौधरी
 सरकार के तीन साल उपलब्धियों से भरे - भरत चौधरी

-डेक्स केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
रूद्रप्रयाग। सरकार के तीन साल के कार्यकाल को भाजपा विधायक भरत सिंह चौधरी ने बेहतर बताते हुए कहा की तीन साल के कार्यकाल में सरकार ने आमजनमानस के हितों को ध्यान में रखकर योजनाएं बनायी है, जिसका परिणाम आने वाले समय में धरातल पर दिखेगा। साथ ही जनता को बडा फायदा मिलेगा। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की नेतृत्व की सहराना करते हुए कहा कि राज्य हित उनके द्वारा कही बडे फैसले लिए गये हैं। गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करने का ऐतिहासिक फैसला उनके द्वारा किया गया। इसके साथ ही सरकार ने चार धाम यात्रा संचालन के लिए देवस्थानम् बोर्ड का गठन कर बडा कदम उठाया हैं। इस साथ ही सरकार पिछले तीन सालों में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने में कामयाब रही।

साथ ही हर व्यक्ति के स्वास्थ्य काख्याल रखते हुए, राज्य के हर परिवार को अटल आयुष्मान योजना से जोडा है तथा हर परिवार के लिए पाँच लाख तक का इलाज फ्री देने का कार्य किया गया। साथ ही केन्द्र सरकार की सहयोग से प्रदेश के पहाड़ी क्षेत्र में यातायात की बेहतर कनेक्टिविटी मिले इसके लिए आल वैदर रोड व रेलवे लाइन का कार्य युद्ध स्तर पर चल रहा हैं। वही सरकार ने पहाड़ी जिलों को उडान योजना के तहत हवाई सेवाओं से जोडने का कार्य किया हैं।  रोजगार को बढावा देने के औधोगिक निवेश के लिए इन्वेस्टर समिट आयोजित किया। जिसमें निवेशकों के साथ 124765 करोड के एमओयू साइन किया गया। जो आने वाले समय में धरातल पर देखेगा।  सरकार ने पर्यटन को बढावा देने के लिए १३ जिलों में १३ डेस्टीनेशन क्षेत्रों का चयन किया गया। जिनको विकसित किया जा रहा है। कृषि व बागवानी व स्वरोजगार से जोडने के लिए न्याय पंचायत स्तर पर ग्रोथ सेंटर स्थापित किए जा रहे है। इसके साथ ही युवाओं के लिए युवा आयोग का गठन किया गया है।

युवाओं के लिए नयी स्टार्ट अप नीति बनायी गई हैं। वही स्वरोजगार के लिए युवाओं को होम स्टे योजना, वीर चन्द्र सिंह गढवाली स्वरोजगार योजना के तहत प्रोत्साहित किया जा रहा है। इसके साथ ही पहाड में स्वरोजगार  के लिए अलग सोलर नीति बनाई गई हैं। वही ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। महिला स्वयं सहायता समूह को स्वरोजगार के लिए के लिए पाँच लाख तक का ऋण जीरो प्रतिशत ब्याज पर उपलब्ध कराया जा रहा है।

बेहतरीन कार्य हुए रूद्रप्रयाग विधानसभा में 
विधायक भरत सिंह चौधरी 

रूद्रप्रयाग विधानसभा की बात करे तो शिक्षा के क्षेत्र में हर संभव प्रयास करने का कार्य किये है। वर्तमान विधानसभा क्षेत्र के लगभग सभी विधालयों रिक्त पदों को गैस्ट टीचरों के माध्यम से भरा गया है। साथ ही विधायक निधि का 52% शिक्षा के क्षेत्र में लगाया गया।जिसमें आधुनिक शिक्षा के साथ शिक्षकों की कमी बच्चों की पढाई पर न पडे इसके लिए उनके द्वारा सभी हाईस्कूल व इंटलकालेज को ई-लर्निग व विधुत व्यवस्था के लिए इन्वर्टर दिये गये। अभी तक 50 से ज्यादा विधालयों में भवन निर्माण, मरम्तीकरण, चारदीवारी, मैदान निर्माण, फर्नीचर, कम्यूटर, विज्ञान उपकरण उनके द्वारा विधायक निधि से उपलब्ध कराये गये। दो दर्जन से ज्यादा विधालयों का निर्माण जिला योजना के माध्यम से तीन वर्षों में कराया गया। साथ ही रूद्रप्रयाग महाविद्यालय का नवनिर्माण का कार्य प्रारंभ कराया गया। साथ  ही टाटपट्टी मुक्त अभियान के तहत अभी तक १६०० बच्चों के लिए फर्नीचर वितरित कर चुके हैं। जल्द सभी बच्चों के बैठने के फर्नीचर उपलब्ध कराने की दिशा में कार्य चल रहा है।इसके साथ उच्च प्राथमिकत एंव प्रथामिक विधालय भी आधुनिक शिक्षा से जुड़े उनके कम्यूटरकृत करने के लिए कार्य किये जा रहे हैं।

सडकों की बात करे तो लक्ष्य रखा है, की 2022 विधानसभा के सभी गाँव सडक मार्ग से जुड़े। तीन साल में रूद्रप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में ३०० करोड से ज्यादा के  67  से सडकें व पुल स्वीकृत हैं, जिनमें से पीएमजीएसवाई के तहत 42 सडकें स्वीकृत थी। जिसमें से 9 पूर्ण हो चुकी हैं, तथा 24 सडकें निर्माधीन हैं। इसके साथ ही पीडब्लूडी की 25 सडके स्वीकृत थी जिसमें से 15 से ज्यादा सडकों पर कार्य शुरु है।इसके साथ 7 पुलों में पांच झूला पुल तथा दो मोटर पुलों पर निर्माण कार्य शुरु किया गया है।इसके साथ ही अभी तक एक दर्जन से अधिक सडक विधायक निधि से बनायी गयी हैं।

स्वास्थ्य सेवाओं में पिछले तीन सालों में सुधार देखने को मिला है,  बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ जनपद वासियों को मिले इसके लिए कार्य कर रहे हैं।जिला चिकित्सालय में जहाँ २२ लाख की लागत से लैप्रोसस्कोपिक मशीन उपलब्ध करायी।रूद्रप्रयाग जिलाचिकित्सालय पहला पहाडी जनपद है,जहाँ लैप्रोसस्कोपिक मशीन से आपरेशन होते हैं।इसके साथ सरकार की मदद से जनेटिक वार्ड, ब्लड बैंड लैब पैथोलाजी बनायी गई। जिससे आम जनता को फायदा मिल रहा है। इसके साथ सरकार द्वारा शंकराचार्य अपस्ताल कोटेश्वर का शीध्र संचालन किया जायेगा।
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

पेयजल के क्षेत्र कार्य किया जा रहा है, भरदार क्षेत्र जो सबसे ज्यादा जल संकट से प्रभावित हैं, २०११बंद पडी योजना को शुरू कराया गया। सरकार के माध्यम से विश्व बैंक की मदद से उस योजना के लिए 12 करोड 90 लाख स्वीकृत कराकर योजना का कार्य प्रांरभ कराया गया। इसके साथ ही कही गाँव के लिए विधायक निधि में पेयजल लाइन निर्माण, टैंको के निर्माण के लिए धनराशि देकर ग्रामीणों को पेयजल की सुविधा उपलब्ध करायी गयी।इसके साथ ही रूद्रप्रयाग विधानसभा में २७ लिफ्ट सिंचाई योजनाओं को उनके द्वारा पेयजल योजना में कनवर्ट किया जा रहा है, जिसमें ग्रामीणों को सिंचाई के साथ पीने का पानी भी मिले।इसके लिए शासन स्तर पर तैयारी चल रही हैं। तीन सालों में 58 वसावटों को पेयजल से जोडा गया है।

वही धार्मिक एंव पर्यटन के क्षेत्र में  जहाँ विभिन्न क्षेत्रों में स्थित मंदिरों के सौन्दर्यकरण जैसे बासुदेव मंदिर बांगर ,कोटेश्वर महादेव, मठियाणाखाल, सहित कही प्रसिद्ध मंदिरों के लिए विधायक निधि से धनराशि दी गई।
वही पर्यटन स्थल बधाणीताल ताल के सौन्दर्यकरण विधायक निधि से धनराशि के साथ- साथ कही क्षेत्रों में जैसे बच्छणस्यू मोहत्सव, सिलगढ मोहत्सव, बांगर मोहत्सव, हरियाली देवी मेले को राज्य स्तरीय मिला घोषित कर  सभी मोहत्सव के लिए अनुदान राशि दी गई। तथा इन मेलों के माध्यम से जनता को कही सौगात दी। इसके साथ ही सरकार के माध्यम से पर्यटन विभाग के द्वारा पपडासु झील को पर्यटन स्थल के रुप में विकसित किया जा रहा है। स रकार के चयनित डेस्टीनेशन सेंटर चिरबटिया को में पर्यटन को बढावा देने के लिए कार्य किये जा रहे है। इसके साथ ही कृषि क्षेत्र में लगातार कार्य कर किया जा रहा है। कृषकों को अभी तक विभिन्न कृषि यंत्रों पर दस लाख तक की विधायक निधि से सब्सडी दी गई है। इसके साथ ही प्रगतिशील किसानों को पुरस्कृत किया जा रहा है। 

अभी तक विधायक निधि का 90% हिस्सा ३५० से ज्यादा योजनाओं में खर्च कर चुके हैं। जिसमें महिला मंगल दलों ग्राम पंचायत विकासखंड के माध्यम से ग्रामीणों को रोजगार के साथ उच्च गुणवत्ता के साथ विधायक निधि का उपयोग जनहित कार्यों के लिए किया गया है।
वही अभी तक तीन सालों में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 4340 लोगों लोन दिया गया। वृद्धा पेंशन के तहत 7518 लोगों लाभान्वित किया गया। विधवा पेंशन में 3530 तथा दिव्यांग पेंशन से 1152 लाभार्थीयों को तीन साल में लाभान्वित किया गया। वही प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से 20641 कृषकों तथा फसल बीमा योजना से 11490  कृषकों को लाभान्वित किया गया। पंडित दीनदयाल विधुतीकरण योजना से 212 तोकों का विधुतीकरण किया गया तथा सौभाग्य योजना के तहत 1545 घरों में विधुतीकरण किया गया।उज्ज्वला योजना के तहत 4703 लोगों को गैस कनेक्शन वितरित किये गए। 35 लोगों को होम स्टे योजना का लाभ दिया गया है। साथ ही नंदा गौरा योजना के तहत २००० बालिकाओं को इसका लाभ तीन सालों में दिया गया है। आने वाले दो सालों में जो अन्य समस्याएं है, उनको शीर्ष प्राथमिकता पर रखकर कार्य किया जायेगा। इस साल सैनिक स्कूल व नर्सिंग काँलेज का कार्य प्रारंभ किया जायेगा।
Adbox