Breaking News

Wednesday, 11 March 2020

महिला ने लगाया खण्ड विकास अधिकारी जखोली पर अभद्रता का आरोप

वीडियो : महिला ने लगाया खण्ड विकास अधिकारी जखोली पर अभद्रता का आरोप

-केदारखण्ड एक्सप्रेस न्यूज
रूद्रप्रयाग। जखोली विकासखण्ड के खण्ड विकास अधिकारी द्वारा एक महिला के साथ अभद्रता का मामला प्रकाश में आ रहा है। जिसकी शिकायत महिला ने मुख्य विकास अधिकारी से लेकर जिलाधिकारी तक कर दी लेकिन लम्बे समय बाद भी मामले पर कोई कार्यवाही नहीं हुई है। अब पीड़ित महिला ने न्याय के लिए महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया है।

आपको बताते चले कि जखोली विकासखण्ड के खण्ड विकास अधिकारी पर जखोली तल्ली जाखाल भरदार निवासी भक्ति देवी ने आरोप लगया है कि खण्ड विकास अधिकारी द्वारा उनके साथ अभद्र एवं अश्लील व्यवहार किया है। इस कृत्य को लेकर भक्ति देवी व उनके पति कुँवर सिंह ने कई बार मुख्य विकास अधिकारी से लेकर जिलाधिकारी तक इसकी शिकायत कर दी है लेकिन मामले में करीब 7 माह से अधिक व्यतीत होने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई है। ऐसे में अब भक्ति देवी ने महिला आयोग को पत्र लिखकर न्याय की गुहार लगाई है। महिला ने क्या आरोप लगाये हैं पहले आप उसे सुन लिजिए वीडियों के माध्यम से-


अब जरा पूरा मामला समझने की कोशिश किजिए। महिला ने बताया कि दरअसल भक्ति देवी रूद्रप्रयाग के विधायक भरत सिंह चैधरी की पुरानी कार्यकर्ता रहीं हैं। इसी के चलते विधायक भरत सिंह चैधरी द्वारा उनके गाँव में विधायक निधि से देव पंचायत भवन बनाने के लिए पिछले साल जनवरी में विधायक निधि से चार लाख की धनराशि आवंटित की थी जिसमें भक्ति देवी को टोली नायक बनाया गया था। विधायक निधि का पैंसा मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय से खण्ड विकास अधिकारी के पास पहुँचा तो उसके बाद खण्ड विकास अधिकारी के दफ्तर में फाइल रूक गई। भक्ति देवी द्वारा कई बार खण्ड विकास अधिकारी कार्यालय के चक्कर काटे गए लेकिन फाइल आगे नहीं बढ़ पाई। महिला ने आरोप लगाया कि वीडियों जखोली द्वारा फाइल बढ़ाने के एवज में उनसे अश्लील बातें की।

उधर पूरे मामले में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल का कहना है कि उनके पास महिला का कोई भी शिकायती पत्र नहीं आया है। हालांकि उन्होंने कहा कि मामला एक वर्ष पुराना है और इसमें विधायक जी द्वारा कुछ धनराशि ग्राम पंचायत को दी गई थी कोई सार्वजनिक सम्पति बनाने के लिए उसमें वीडियों द्वारा उक्त व्यक्ति से भूमि के कागजात मागे जा रहे थे जिसमें देव भवन का निर्माण होना था। लेकिन उनके द्वारा वह देव भवन अपनी भूमि पर बनाये जाने की बात कही जा रही है जो वीडियों ने अवगत करवाया है लेकिन अगर इसमें कोई शिकायत मिलती हैं तो इसमें जांच की जायेगी। आप भी सुन लिजिए जिलाधिकारी की जुबानी-

हालांकि यह मामला की शिकायत महिला ने पहले ही जिलाधिकारी के पास की थी जिसमें स्वयं जिलाधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी को जांच के आदेश  दिए थे लेकिन पूरे मामले में अब तक कोई कार्यावाही नहीं हुई है। बहरहाल अब महिला ने महिला आयोग को पत्र भेजकर इसाफ मांगा है








/div>
Adbox