कल भी सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंग आवश्यक सामग्री की दुकानें : मुख्यमंत्री


कल भी सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंगे आवश्यक सामग्री की दुकानें : मुख्यमंत्री

-केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 


रूद्रप्रयाग। आवश्यक वस्तुओं की दुकानें कल 28 मार्च को भी सुबह 7 से दोपहर एक बजे तक खुली रहेंगी। मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने यह जानकारी देते हुए बताया कि आज पहले की अपेक्षा भीङभाङ कम रही है। इसलिए  आज की यह व्यवस्था आगे भी जारी रहेगी। यह निर्णय इसलिए लिया गया था ताकि कोरोना से निबटने के लिए ज़रूरी सोशल डिस्टनेसिंग का पूर्ण रूप से अनुपालन कराने के लिए आम जनता को ख़रीदारी के उद्देश्य से पर्याप्त समय मिल जाय और आवश्यक वस्तुओं की दुकानों में एक साथ भीड़ न एकत्र होने पाए। कल भी चौपहिया वाहनों पर रोक रहेगी। 

फेसबुक लाईव द्वारा अपने संदेश में मुख्यमंत्री ने बताया कि जिन तीन आईएफएस अधिकारियों का कोरोना पाजिटिव होने पर ईलाज चल रहा था, उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है और वे अब ठीक होने की स्थिति में आ गए हैं। मुख्यमंत्री ने उनके ईलाज में जुटे चिकित्सकों व अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को बधाई देते हुए कहा कि यह हमारे चिकित्सकों की सक्षमता को बताता है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में कोरोना के खिलाफ बङी लङाई लङी जा रही है। इसमें हम जरूर जीतेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस व प्रशासन के लोग फार्मा इंडस्ट्री में काम करने वाले लोगों को न रुकें, हो सके तो उनको पहुंचाने की व्यवस्था करें। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बङी संख्या में सामाजिक, धार्मिक संस्थाएं और व्यक्तिगत तौर पर भी लोग आगे आए हैं और सहयोग के लिए स्वयं को प्रस्तुत किया है। हम इनके बहुत आभारी हैं।  मुख्यमंत्री राहत कोष में सहायता की इच्छा भी बहुत से लोगों ने व्यक्त की है। कइयों ने बङी राशि भी दी है। हम उनके भी आभारी हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए यदि किसी के सुझाव हों तो हम उसका भी स्वागत करते हैं। प्राप्त सुझावों पर सरकार और शासन द्वारा विचार किया जाता है और उपयुक्त लगने पर क्रियान्वित भी किया जाता है।
कल भी सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंग आवश्यक सामग्री की दुकानें : मुख्यमंत्री कल भी सुबह 7 से दोपहर 1 बजे तक खुले रहेंग आवश्यक सामग्री की दुकानें : मुख्यमंत्री Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on March 27, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.