Breaking News

Tuesday, 31 March 2020

कोरोना का पॉजिटिव केस आने पर बचाव कार्य कैसे शुरू होगा, इसके लिए 11 टीम गठित। इस तरह करेंगे कार्य


कोरोना का पॉजिटिव केस आने पर बचाव कार्य कैसे शुरू होगा, इसके लिए 11 टीम गठित। इस तरह करेंगे कार्य 
भूपेन्द्र भण्डारी/ केदारखंड एक्सप्रेस न्यूज 
रूद्रप्रयाग। कोरोना वायरस के बचाव हेतु जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने जनपद में सिटी रिसोर्स पर्सन(सी आर टी)व ब्लॉक रिसोर्स पर्सन (बी आर टी) की 11 टीम गठित की है। टीम में एक अध्यक्ष व 4 से 5 सदस्य है।, जिनका कार्य जनपद में कोरोना का पॉजिटिव केस आने पर कार्य शुरू होगा। जनपद में शहर में पॉजिटिव  केस आते ही सी आर टी टीम व गांव में  बी आर टी टीम द्वारा उस मरीज के कांटेक्ट में आये लोगो की ट्रेसिंग की जाएगी जिससे न्यूनतम14 दिन तक उन सभी लोगो का फॉलो अप किया जा सके। इससे कांटेक्ट ट्रेसिंग में आये लोगो को होम क्वारन्टीन व जरूर पड़ने पर आइसोलेशन में रखा जाएगा। कांटेक्ट ट्रेसिंग के सभी लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जाएगा। 
इसी संबंध में जिला कार्यलय में बी आर टी व सी आर टी टीम के सदस्यों को सर्वप्रथ कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु डॉ जितेंद्र नेगी व डॉ श्रुति द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुय जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि इस वैश्विक आपदा से बचाव बेच हम सबको अपनी पूरी सुरक्षा के साथ ही अपने दायित्वों का निर्वहन भी करना है। सभी बी आर टी व सी आर टी की टीम के सदस्य यह सुनिश्चित कर ले कि अपने कार्यों के दौरान वे किसी भी व्यक्ति के कांटेक्ट में न आय। सभी सामाजिक दूरी का अनुपालन करे। किसी भी व्यक्ति में कोरोना के संभावित लक्षण प्रतीत होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें।
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचे रहने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताई गई बात को जरूर ध्यान में रखें। ऐसी स्थिति में आपको ऐसे लोगों से दूर रहना है, जो हाल ही में किसी ऐसे स्थान से वापस लौटे हैं, जहां कोरोना वायरस का संक्रमण फैला हुआ है। बहुत जरूरी होने पर अगर आप ऐसे लोगों से मिलें भी, तो कोशिश करें कि आपके बीच कम से कम 1 मीटर की दूरी जरूर हो। इस अवसर पर सी एम ओ डॉ एस के झा साबित समस्त सी आर टी  व बी आर टी के सदस्य व अध्यक्ष उपस्थित थे।
Adbox