कब बीत गया बरसात, मलबा अब तक नहीं हुआ साफ लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएस वाई विभाग तो लोगों की जान लेने पर


कब बीत गया बरसात, मलबा अब तक नहीं हुआ साफ

लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएस वाई विभाग तो लोगों की जान लेने पर



डैस्क: केदारखण्ड एक्सप्रेस
चमोली। चमोली के विकासखण्ड पोखरी में लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएसवाई विभाग की लापरवाही का आलम इस कदर है कि वह लोगों की जान लेने पर तुला है। यह इस बात से भी स्पष्ट होता है कि बरसात कब बीत चुका है लेकिन सड़क से बरसात का मलबा अब तक साफ नहीं हो सका है।

जी हां बात कर रहे हैं पोखरी-हरिशंकर-रोता मोटर मार्ग की। इस मोटर मार्ग का निर्माण करीब एक दशक पूर्व हो गया था, लेकिन मोटर मार्ग का पहला करीब 10 किमी हिस्सा लोक निर्माण विभाग के पास है जिसमें बनखुरी बैंण्ड से गनियाला तक 5 किमी  पर आज तक डामरीकरण नहीं हुआ है। जबकि इससे आगे पीएमजीएसवाई के पास है। आलम यह है कि बीते बरसात के समय आए जगह जगह मलबा अब तक साफ नहीं हो सका है जिस कारण मोटर मार्ग जानलेवा बना हुआ है। विभाग की इसी लापरवाही के कारण ढेड़ वर्ष पूर्व इस मोटर मार्ग पर एक हादसा भी हुआ था जिसमें करीब आधा दर्जन लोगों को अपनी जिंदगी से हाथ धोना पड़ा था। जबकि उसके बाद भी जब तब इस मोटर मार्ग पर हादसे होते रहते हैं। लेकिन विभाग हैं कि कुमकरणीय नींद में सोये हुए हैं।

क्षेत्र पंचायत सदस्य पुष्पा देवी का कहना है कि दोनों विभागों को मोटरमार्ग की बदहाली के बारे में कई बार कहा जा चुका है। लेकिन विभाग द्वारा कोई भी सकारात्मक कार्यवाही नहीं की जा रही है। स्थिति यह है कि मोटर मार्ग के मलबे के कारण जहां पूरी सड़क तंगहाल बनी हुई है वहीं गनियाला गाँव में भी सड़क का मलबा आ गया है जिससे गांव को खतरा पैदा हो गया है। क्षेत्र के लोगों ने कहा कि अगर विभाग इसी तरह की लापरवाही दिखाता रहा तो आने वाले दिनों में क्षेत्र की जनता सड़कों पर उतरेगी।
पोखरी विकासखण्ड के अन्तर्गत यह पहली सड़क नहीं है जिसकी हालत विभागीय लापरवाही के कारण नाजुक बनी है बल्कि अधिकांश सड़कों के हाल यहीं हैं। 
कब बीत गया बरसात, मलबा अब तक नहीं हुआ साफ लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएस वाई विभाग तो लोगों की जान लेने पर कब बीत गया बरसात, मलबा अब तक नहीं हुआ साफ लोक निर्माण विभाग और पीएमजीएस वाई विभाग तो लोगों की जान लेने पर Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on January 22, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.