Breaking News

Friday, 24 January 2020

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी, स्थानीय विधायक ने धरना स्थल पर पहुँचकर सुनी समस्याएं

आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी, स्थानीय विधायक ने धरना स्थल पर पहुँचकर सुनी समस्याएं

- डेस्क: केदारखंड एक्सप्रेस 
रुद्रप्रयाग। राज्य कर्मचारी घोषित करने, मानदेय वृद्धि समेत विभिन्न मांगों को लेकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों और सहायिकाओं का आंदोलन 45वें दिन भी जारी रहा।आंदोलनकारियों ने स्पष्ट किया कि जब तक सरकार उनकी मांगें नहीं मानेगी, उनका आंदोलन जारी रहेगा। अब वह उग्र आंदोलन का मन बना रही हैं।

 यहाँ पुराने विकास भवन में बड़ी संख्या में आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों ने धरना देते हुए कहा कि पिछले डेढ़ माह से कार्यकत्रियां और सहायिकाएं आंदोलनरत हैं। लेकिन सरकार के कानों में जू तक नहीं रेंग रहा है। कार्यकत्रियां राज्य कर्मचारी घोषित करने, 18 हज़ार रुपए मानदेय देने, समान कार्य के लिए समान मानदेय, विभागीय पदोन्नति, ग्रीष्मकालीन-शीतकालीन अवकाश समेत अन्य मांगों को लेकर संघर्ष कर रही हैं। संगठन की अध्यक्ष सुनीता बर्त्वाल, सचिव गायत्री जगवाण, उपाध्यक्ष कांति बिष्ट, कोषाध्यक्ष सुमन खंडूरी ने कहा कि महंगाई के इस दौर में साढ़े सात हजार में परिवार चलाना मुश्किल है। हर रोज दस से बारह घंटे काम करने के बावजूद हमें ऊंट के मुंह में जीरे के समान पैसा मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों का आंदोलन अब तभी समाप्त होगा, जब सरकार उनकी मांगें मानेगी। मांगे नहीं मानी गई तो सरकार को इसका खामियाजा भुगतना होगा। 

वहीं स्थानीय विधायक भरत सिंह चौधरी ने धरना स्थल पर पहुँचकर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को आंदोलन समाप्त करने को कहा। जन्होंने कहा कि सरकार उनकी मांगों को लेकर गंभीर है। वह मुख्यमंत्री और बाल विकास मंत्री को भी पत्र भेजकर उनकी मांगों से अवगत कराएंगे।

इसके साथ ही जन अधिकार मंच ने भी आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों के आंदोलन को पूर्ण समर्थन दिया। मंच के अध्यक्ष मोहित डिमरी ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां हमारे गांवों की रीढ़ हैं। इनके कंधों पर बच्चों की देखभाल, उनकी पढ़ाई, टीकाकरण, सरकारी योजनाओं को जमीन पर उतारने सहित कई जिम्मेदारियां हैं। जब से आंदोलन हुआ है, व्यवस्थाएं गड़बड़ाने लगी है। सरकार को इनकी जायज मांगों का निराकरण करना चाहिए। नगर व्यापार मंडल अध्यक्ष कांता नौटियाल, मंच के उपाध्यक्ष तरुण पंवार ने भी आंदोलनकारियों को पूरा समर्थन देते हुए हर संभव सहयोग का भरोसा दिलाया।
Adbox