सैनिक स्कूल का निर्माण न हुआ तो शुरू होगा जनांदोलन, सैनिक स्कूल निर्माण संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया निर्णय

सैनिक स्कूल का निर्माण न हुआ तो शुरू होगा जनांदोलन, सैनिक स्कूल निर्माण संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया निर्णय


-भूपेन्द्र भण्डारी/रूद्रप्रयाग
रुद्रप्रयाग। विकासखंड जखोली के थाती बड़मा में सैनिक स्कूल का निर्माण कार्य अधर में लटकने पर ग्रामीणों ने आर-पार की लड़ाई का मन बना दिया है। 

सैनिक स्कूल निर्माण संघर्ष समिति की थाती-बड़मा में हुई खुली बैठक में वक्ताओं ने कहा कि सैनिक स्कूल निर्माण को लेकर भाजपा सरकार की नीयत में खोट नजर आ रहा है। पिछले पांच सालों से सैनिक स्कूल का निर्माण अधर में लटका हुआ है। ऐसे में ग्रामीण खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं। 

संघर्ष समिति के अध्यक्ष कालीचरण रावत ने कहा कि सैनिक स्कूल निर्माण को लेकर हर बार कोरे आश्वासन ही दिए जा रहे हैं। पूर्व में सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने भी सैनिक स्कूल का स्थलीय निरीक्षण किया था और शिष्टमंडल को भरोसा दिलाया था कि सैनिक स्कूल का निर्माण कार्य जल्द प्रारम्भ होगा। एक साल बीत जाने के बाद भी सैनिक स्कूल का निर्माण शुरू नहीं हुआ। इससे जनता में भारी आक्रोश बना है। 

जन अधिकार मंच के अध्यक्ष मोहित डिमरी ने कहा कि सैनिक स्कूल के निर्माण में भारी भ्रष्टाचार हुआ है। इसके दोषियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही होनी चाहिए। इसके साथ ही भाजपा सरकार को जल्द सैनिक स्कूल का निर्माण कार्य शुरू कराना चाहिए। ऐसा न होने पर जनांदोलन छेड़ा जाएगा। 
कांग्रेस प्रदेश महामंत्री वीरेंद्र बुटोला ने कहा कि क्षेत्र की लड़ाई में दलगत राजनीति से उठकर काम करने की जरूरत है। जन्मभूमि पहले और पार्टी बाद में है। कांग्रेस और भाजपा दोनों सैनिक स्कूल को लेकर दोषी हैं। लेकिन इस समय भाजपा नेताओं की जिम्मेदारी ज्यादा है क्योंकि वो सरकार में है।

बैठक में भाजपा के पूर्व मण्डल अध्यक्ष त्रिलोक सिंह रावत ने कहा कि जल्द सैनिक स्कूल का निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ तो वह भी जनता के साथ आन्दोलन में हिस्सा लेंगे।
पूर्व प्रमुख जगदेश्वरी भारद्वाज और सामाजिक कार्यकर्ता राम सिंह पंवार ने कहा कि सरकार नहीं चाहती कि पहाड़ों का विकास हो। सरकार की मंशा साफ नहीं है। बैठक में तय किया गया कि सैनिक स्कूल निर्माण के लिए रुद्रप्रयाग जनपद के प्रत्येक गांवों को आंदोलन से जोड़ा जाएगा। पहले चरण में दोनों विधायकों और मुख्यमंत्री से वार्ता की जाएगी। इसके बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं होता है तो क्रमिक धरना प्रदर्शन शुरू किया जाएगा। 

 बैठक में थाती बड़मा, मुन्नादेवल, धारियांज, जखोली, डंगवाल गांव, घणतगांव, स्वाड़ा, ब्राहमण गांव, नौगांव, सेम, कोटी, मरोड़ा, किरोड़ा तल्ला, किरोड़ा मल्ला, उत्तरसू, दोब्लिया, बष्टा, जखन्याल गांव, गैरसेरा, पाटियों, चाका, धारकोट, डोबा, तिमली समेत अन्य गांवों के ग्रामीण पहुँचे हुए थे। बैठक में इन सभी गांवों के ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्य और जिला पंचायत सदस्यों ने हिस्सा लिया।
मंच का संचालन पूर्व छात्रसंघ महासचिव मनोज रौथाण ने किया। इस मौके पर समिति के संरक्षक मदन सिंह नेगी, त्रिलोक सिंह रावत, डा नरवीर रौथाण, विश्म्बर सिंह रावत, क्षेपंस प्रदीप रावत, किसान कांग्रेस प्रदेश सचिव जयेन्द्र रावत, दीपक रावत, अनसूया नेगी, मनोज रौथाण, सुधीर रौथाण, रमेश मैठाणी, गोविन्द राम मैठाणी, अमित रावत, शूरवीर सिंह रावत, शूरवीर झिंक्वाण, मनवर सिंह रावत, संजय रावत, बुद्धिलाल, सन्दीप रावत, देवेन्द्र बिष्ट, विरेन्द्र बिष्ट, रघुवीर करासी, बैसाख नाथ, गुडडू लाल आर्य, शेरी लाल आर्य, भगवान सिंह पंवार, उदय सिंह कठैत, हर्षवर्धन रौथाण, मुकेश कठैत, क्षेपस बलबीर लाल, प्रधान ज्योति देवी, क्षेपस नीमा देवी, क्षेपस अनिता देवी, महिला मंगल दल थाती बड़मा सरिता देवी, राजेश्वरी देवी, उषा देवी, मुखलियां देवी, राजमोहन लाल, पूर्ण लाल, राम लाल, सूरजीत सिंह रौथाण समेत कई लोग मौजूद थे।

सैनिक स्कूल का निर्माण न हुआ तो शुरू होगा जनांदोलन, सैनिक स्कूल निर्माण संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया निर्णय सैनिक स्कूल का निर्माण न हुआ तो शुरू होगा जनांदोलन, सैनिक स्कूल निर्माण संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया निर्णय Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on January 06, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.