संस्कृति के रंगों के साथ उत्तरायणी का आगाज 3 दिनों तक बिखरेगी लोक गीतों की छटा

संस्कृति के रंगों के साथ  उत्तरायणी का आगाज  3 दिनों तक बिखरेगी लोक गीतों की छटा

नीरज कंडारी/ केदारखंड एक्सप्रेस
नारायणबगड़,चमोली। रविवार को स्थानीय जीआईसी के प्रांगण में तीन दिवसीय उत्तरायणी सांस्कृतिक मेले का आगाज रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति के साथ किया गया।
विधायक मुन्नी देवी शाह, ब्लाक प्रमुख यशपालसिंह नेगी, जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह रावत ने दीपप्रज्वलित कर उत्तरायणी मेले का विधिवत शुभारंभ किया। विधायक श्रीमती शाह ने कहा कि मेले पौराणिक काल से ही हमारी संस्कृति के वाहक रहे हैं।मेले आपसी सौहार्द तथा विकास के भी प्रतीक भी हैं।उन्होंने उत्तरायणी पर्व पर आयोजित किए जा रहे इस मेले की सभी मेलार्थियों शुभकामनाएं दीं।इस अवसर पर उन्होंने ममंद हरमनी, चोपता तथा किमोली की शानदार प्रस्तुति पर उन्हें पुरुस्कार देकर सम्मानित किया। जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्ष्मण रावत ने मातृशक्ति का अभिनंदन करते हुए उनके द्वारा प्रस्तुत लोकसंस्कृति के कार्यक्रमों की सराहना की। मेले के संरक्षक ब्लाक प्रमुख यशपालसिंह नेगी ने सभी आगंतुकों और मेलार्थियों का स्वागत करते हुए आभार जताया।
तीन दिवसीय उत्तरायणी सांस्कृतिक मेले के पहले दिन को स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर युवा महोत्सव के रूप में मनाया गया तथा विवेकानंद की फोटो का अनावरण जिला पंचायत उपाध्यक्ष लक्षण सिह रावत तथा थराली विधायक मुन्नी देवी शाह ने किया,जिसके तहत मेले का पहला दिन युवा महोत्सव के रूप में युवक मंगल दलों तथा महिला मंगल दलों के नाम रहा। सांस्कृतिक मंच पर क्षेत्र के महिला मंगल दलों ने लोकसंस्कृति के विविध रंगों की छटा बिखेर कर मेलार्थियों का भरपूर मनोरंजन किया।सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शुरुआत ममंद चोपता ने स्वागत गीत से किया। हरमनी ममंद ने " अब लगोला मंडाण गीत से पंचनाम देवताओं का आह्वान किया। ममंद किमोली और गड़कोट ने क्रमशः ते नीती बोर्डर मांजी कस कै जाण। भीमसिंगा कौथिग ऐ जाण झुमैलो की प्रस्तुति से पारंपरिक लोकसंस्कृति को जीवंत बना दिया। नंदादेवी लोक जागर कला मंच ने बालगोविंदा कृष्णा के जागर गायन से श्रोताओं को भावविभोर किया। ममंद हंसकोटी ने म्योर बुडय्या को ब्योच रे चार दीनों की धक्का धूम की शानदार प्रस्तुति से दर्शकों को खूब झूमाया। ममंद सनेड़ तथा चोपता ने श्री नंदा देवी राजजात यात्रा की झांकी का बेहतर प्रर्दशन किया।किशोरी दल खैनोली ने उत्तरैणी कौथिग अऐगै छ मेरी सरूली गीत पर शानदार लोकनृत्य की प्रस्तुति दी। उन्नति और हेप्पी ने आई लव माई इंंडिया पर डांस कर दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। किशोरी दल बेडुला ने तेरो लंहगा ,कामिनी एंड पार्टी ने रासू लगै मेरा चैता, एसजीआरआर की बालिकाओं ने साटयूं की लवै मंड्वै गीत पर लोकनृत्य का प्रदर्शन किया। हरमनी तल्ली ममंद ने छो छमुला दूर का घसीला पर झूमेला नृत्य किया। दर्शकों ने देरशाम तक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का खूब लुफ्त उठाया।महिला रस्साकशी प्रतियोगिता में ममंद चोपता ने ममंद किमोली को पराजित कर खिताब अपने नाम किया। कौथगैरों ने झूला और चर्खियों का भी खूब आंनद लिया व मेले मे लगी दुकानों से भी जमकर खरीदारी की।
संस्कृति के रंगों के साथ उत्तरायणी का आगाज 3 दिनों तक बिखरेगी लोक गीतों की छटा संस्कृति के रंगों के साथ  उत्तरायणी का आगाज  3 दिनों तक बिखरेगी लोक गीतों की छटा Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on January 12, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.