Breaking News

Friday, 6 December 2019

घास लेने जंगल गई महिला हुई लापता, इसी क्षेत्र के दो लोगों को पिछले माह आदमखोर गुलदार ने बनाया था अपना निवाला, दुश्चिताओं में परिजन परेशान

घास लेने जंगल गई महिला हुई लापता, इसी क्षेत्र के दो लोगों को पिछले माह आदमखोर गुलदार ने बनाया था अपना निवाला, दुश्चिताओं में परिजन परेशान
-
कुलदीप राणा आज़ाद/केदारखण्ड एक्सप्रेस 

  • रुद्रप्रयाग। आज सुबह घास लेने जंगल गई पपडासू गांव (तहसील रुद्रप्रयाग) की 55 वर्षीय महिला देर शाम तक घर नहीं पहुँची है। स्थानीय लोगों को आशंका है कि कहीं गुलदार ने महिला को अपना शिकार न बना दिया हो।
जानकारी के मुताबिक आज सुबह पपडासू गांव की 55 वर्षीय कौशल्या देवी पत्नी जगत सिंह घास लेने जंगल गई थी। शाम के समय महिला के घर न पहुँचने पर स्थानीय ग्रामीणों ने महिला की ढूंढ-खोज शुरू की।य, लेकिन महिला का कहीं पता नहीं चल पाया। हालांकि स्थानीय लोगों को जंगल में महिला की स्वेटर मिली है। स्थानीय लोग इस बात से डरे हुए हैं कि कहीं महिला को गुलदार ने निवाला न बना दिया हो। इस बात का अंदेशा इसलिए लगाया जा रहा है कि करीब एक माह पूर्व बांसी गांव में एक महिला को गुलदार ने अपना शिकार बना दिया था। बांसी और पपडासू गांव का जंगल आपस में सटा होने से गुलदार के हमले से इनकार नहीं किया जा सकता है। कुछ दिनों पूर्व ही पपडासू गांव में ही गुलदार ने घास लेने जंगल गई महिलाओं पर हमला करने की कोशिश की थी। महिलाओं ने किसी तरह अपनी जान बचाई। हाल ही में पपडासू गांव में एक बकरी को भी गुलदार अपना निवाला बना चुका है। जबकि सतनी गांव में भी एक व्यक्ति को गुलदार ने अपना शिकार बनाया। 
प्रशासन को दी घटना की  सूचना 
सामाजिक कार्यकर्ता मोहित डिमरी ने बताया कि घटना के बारे में जिला प्रशासन, वन विभाग और पुलिस को सूचना दे दी गई है। महिला की खोजबीन के लिये वन विभाग की टीम मौके पर पहुँच रही है। कल सुबह पुलिस की टीम भी पहुँच जाएगी। अभी यह नहीं कहा जा सकता है कि गुलदार ने महिला पर हमला किया हो। हालांकि इस संभावना से इनकार भी नहीं किया जा सकता है। 
जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि महिला की खोजबीन के लिए आपदा प्रबंधन की टीम को पपडासू भेज दिया है। आज रात भर सर्च ऑपरेशन किया जाएगा।