40 महिलाओं को उद्योग विभाग के माध्यम से थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में मास्टर ट्रेनरों ने दिया तीन माह का प्रशिक्षण

40 महिलाओं को उद्योग विभाग के माध्यम से थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में मास्टर ट्रेनरों ने दिया तीन माह का प्रशिक्षण

-डैस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस
चमोली। सीमांत क्षेत्र विकास कार्यक्रम (बीएडीपी) के अन्तर्गत संचालित थुलमा और ऊलन क्राफ्ट कौशल उन्नयन प्रशिक्षण कार्यक्रम का सोमवार को डीआईसी परिसर भीमतला में समापन हुआ। मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे ने कुशलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने के लिए शिल्पियों को प्रशस्ति पत्र देकर बधाई दी। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत सीमांत क्षेत्र बाम्पा और नीति की 40 महिलाओं को उद्योग विभाग के माध्यम से थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में मास्टर ट्रेनरों द्वारा तीन माह का प्रशिक्षण दिया गया। 
चार धाम यात्रा के दौरान बाजार कराया जायेगा उपलब्ध 
प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन पर शिल्पियों ने प्रशिक्षण के दौरान तैयार किए गए ऊनी सामान की प्रदर्शनी भी लगाई गई, जिसमें ऊनी कोट, जैकेट, धोखा, कबंल, थुलमा, मफलर, स्वाईटर, जुराफ आदि प्रोडेक्ट शामिल थे। मुख्य विकास अधिकारी हंसादत्त पांडे ने थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में सफलतापूर्वक प्रशिक्षण पूरा करने पर शिल्पियों को बधाई दी। शिल्पियों को अच्छे प्रोडेक्ट तैयार करने पर जोर देते हुए मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि चारधाम यात्रा के दौरान शिल्पियों को उनके प्रोडेक्ट बेचने के लिए बाजार उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने शिल्पियों को समूह में काम करने की सलाह भी दी। कहा कि समूह में काम करने से उनकों अन्य योजनाओं का लाभ भी मिल सकता है। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी ने ऊन कार्डिक प्लांट का निरीक्षण भी किया। 


प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन के अवसर पर जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्ध डा0 एमएस सजवाण, पीडी प्रकाश रावत, मार्केटिंग विशेषज्ञ असिस्टें प्रो0 वीरेन्द्र असवाल, जय नंदा वेलफेयर के अध्यक्ष बीएस खाती, मास्टर ट्रेनर माहेश्वरी खाती व प्रशिक्षण लेने वाली सभी महिलाएं आदि मौजूद रहे।  
40 महिलाओं को उद्योग विभाग के माध्यम से थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में मास्टर ट्रेनरों ने दिया तीन माह का प्रशिक्षण 40 महिलाओं को उद्योग विभाग के माध्यम से थुलमा और ऊलन क्राफ्ट में मास्टर ट्रेनरों ने दिया तीन माह का प्रशिक्षण Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on December 09, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.