शैलानियों के लिए बर्फ से सजी गई हैं पहाड़ की हसीन वादियाँ

शैलानियों के लिए बर्फ से सजी गई हैं पहाड़ की हसीन वादियाँ 

ऊखीमठ । पंच केदारो में तृतीय केदार के नाम से विख्यात भगवान तुगनाथ की घाटी में बर्फबारी के बाद रौनक लौट सकती है । तुगनाथ घाटी में मौसम की पहली बर्फबारी होने से स्थानीय व्यापारियों के चेहरे की रौनक लौटने लग गयी है । स्थानीय व्यापारियों को उम्मीद है कि तुगनाथ घाटी में विगत वर्ष की तरह इस वर्ष भी जमकर बर्फबारी होने से यहाँ आने वाले सैलानियो की संख्या में भारी इजाफा होगा जिससे स्थानीय पर्यटन व्यवसाय में वृद्धि होगी । कार्तिक स्वामी तीर्थ में भी मौसम की पहली बर्फबारी होने के पहले दिन ने कई सैलानियो ने वहाँ पहुँच कर बर्फबारी का आनन्द लिया । बता दे कि इस वर्ष पंच केदारो में तृतीय केदार के नाम से विख्यात भगवान तुगनाथ के कपाट छ: अक्टूबर को शीतकाल के लिए बन्द कर दिये थे तथा कपाट बन्द होने के बाद भगवान तुगनाथ की चल विग्रह उत्सव डोली विभिन्न यात्रा पडावो पर श्रद्धालुओं को आशीष देते हुए आठ अक्टूबर को अपने शीतकालीन गद्दी स्थल मार्कडेय तीर्थ के सभा सभामड्प में विराजमान हो गई थी । भगवान तुगनाथ के कपाट बन्द होते ही तुगनाथ घाटी में सन्नाटा पसर गया तथा जिससे स्थानीय व्यापारियों के सन्मुख दो जून रोटी का संकट खड़ा हो गया है ।

गुरूवार को तुगनाथ घाटी के चन्द्रशिला , तुगनाथ धाम , चोपता , बनियाकुण्ड में बर्फबारी होने से स्थानीय व्यापारियों के चेहरे की रौनक लौट आई है । सम्पूर्ण घाटी के अधिकांश हिल स्टेशनो पर बर्फबारी होने से स्थानीय व्यापारियों को उम्मीद है कि शीघ्र तुगनाथ घाटी में बर्फबारी का आनन्द लेने के लिए सैलानियो की आवाजाही शुरू होगी । स्थानीय व्यापारी मोहन प्रसाद मैठाणी ने बताया कि इस वर्ष कई वर्षों बाद नवम्बर में ही मौसम की पहली बर्फबारी हुई है जिससे तुगनाथ घाटी में सैलानियो आवाजाही शुरू होने की उम्मीदे है । प्रधान मक्कू विजयपाल नेगी ने बताया कि स्थानीय व्यापारियों द्वारा सोशल मीडिया के जरिए तुगनाथ घाटी में बर्फबारी होने की सूचना अधिकांश सैलानियो को दी गई है । ऐसी उम्मीद है कि शीघ्र सैलानी तुगनाथ घाटी की ओर रूख करेगा । तल्ला नागपुर के शीर्ष पर विराजमान कार्तिक स्वामी तीर्थ में भी जमकर बर्फबारी हुई है तथा बर्फबारी के पहले दिन एक दर्जन सैलानियो ने कार्तिक स्वामी तीर्थ पहुँच कर बर्फबारी का लुप्त उठाया । तीर्थ के पुजारी ताजबरपुरी ने बताया कि कई वर्षों बाद तीर्थ मेंनवम्बर माह में बर्फबारी देखने को मिली है ।
शैलानियों के लिए बर्फ से सजी गई हैं पहाड़ की हसीन वादियाँ शैलानियों के लिए बर्फ से सजी गई हैं पहाड़ की हसीन वादियाँ Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on November 28, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.