पेयजल निगम और ग्राम समिति ने कर दिया लाखों का घोटाला : जाँच फाइलों में कैद

पेयजल निगम और ग्राम समिति ने कर दिया लाखों का घोटाला : जाँच फाइलों में कैद 

-लक्ष्मण सिंह नेगी /केदारखण्ड एक्सप्रेस 
ऊखीमठ । विकासखंड अगस्तयमुनि की सीमान्त ग्राम पंचायत घिमतोली में जिला योजना के अन्तर्गत लभभग 20 लाख रूपये की लागत से बनी सुरगाड - स्वारी ग्वास  पेयजल योजना की जांच फाइलो में कैद होने से ग्रामीणों में जिला प्रशासन व जल निगम के खिलाफ आक्रोश बना हुआ है । जो कि कभी भी सड़कों पर फूट सकता है । ग्रामीणों का आरोप है कि जिला प्रशासन व जल निगम विभाग जानबूझ कर पेयजल योजना की जांच फाइलो में कैद कर रहा है ।                              बता दे कि विकासखंड अगस्तयमुनि की सीमान्त ग्राम पंचायत घिमतोली के स्वारी ग्वास गाँव के ग्रामीणों को पेयजल सुविधा मुहैया कराने के उद्देश्य से वर्ष 2016-17 में जिला योजना के अन्तर्गत सुरगाड - स्वारी ग्वास पेयजल योजना के निर्माण के लिए 19:91 लाख रूपये की वित्तीय स्वीकृति मिली थी । जिला योजना से पेयजल योजना के निर्माण के लिए वित्तीय स्वीकृति मिलते ही पेयजल योजना के निर्माण का जिम्मा जल निगम को दिया गया था । जल निगम को पेयजल योजना के निर्माण का जिम्मा मिलते ही विभाग ने भी अंशदान के रूप में 2:10 लाख रूपये की वित्तीय स्वीकृति दी थी । पेयजल योजना के निर्माण के लिए 20 लाख रूपये की वित्तीय स्वीकृति मिलते ही जल निगम विभाग के अधिकारियों की देखरेख में ग्राम सभा स्तर पर पेयजल निर्माण समिति का गठन कर पेयजल योजना का निर्माण कार्य शुरू किया गया था मगर जल निगम के अधिकारियों की मिलीभगत से पेयजल योजना का निर्माण मानकों की अनदेखी कर किया गया । ग्रामीणों के अनुसार पेयजल योजना की स्वीकृत धनराशि धरातल पर कम व जल निगम के अधिकारियों तथा समिति के पदाधिकारियों की जेबो में अधिक व्यय हुआ है । ग्रामीणों का आरोप है कि जल निगम के अधिकारियों की मिली भगत से पेयजल योजना के निर्माण में भारी अनियमिताये बरती गई है । विगत दिनों ग्रामीणों के एक शिष्टमंडल ने जल निगम के अधिकारियों से मुलाकात कर पेयजल योजना के निर्माण में हुई लाखों रूपये की हेराफेरी की जांच की माँग की थी तथा विभागीय अधिकारियों द्वारा ग्रामीणों को पेयजल योजना की जांच करने का आश्वासन दिया गया था मगर आज तक जांच न होने से ग्रामीणों में आक्रोश बना हुआ है । वन पंचायत सरपंच के पूर्व सरपंच एल एस नेगी ने बताया कि पेयजल योजना का लाभ ग्वास के ग्रामीणों को भी मिलना चाहिए था मगर ग्वास गाँव में एक भी सार्वजनिक कनेक्शन तक नहीं दिया गया है । उन्होंने बताया कि शीघ्र ही इस बावत प्रदेश सरकार ज्ञापन भेजकर कर निष्पक्ष जांच की माँग की जायेगी तथा जांच न होने पर मुख्य बस स्टेशन ग्वास में आन्दोलन शुरू किया जायेगा ।
पेयजल निगम और ग्राम समिति ने कर दिया लाखों का घोटाला : जाँच फाइलों में कैद पेयजल निगम और ग्राम समिति ने कर दिया लाखों का घोटाला : जाँच फाइलों में कैद Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on October 04, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.