Breaking News

Thursday, 24 October 2019

महफूज हैं नीति-माणा सरहद की सीमायें, चीन से सम्बन्ध मधुर

महफूज हैं नीति-माणा सरहद की सीमायें, चीन से सम्बन्ध मधुर 


-पुष्कर सिंह नेगी /केदारखण्ड एक्सप्रेस 
चमोली। भारतीय थल सेना के चीफ जनरल विपिन रावत ने कहा की भारत के पड़ोसी देश चीन के साथ मलारी बोरडर पर सम्बन्ध मधुर है,कहा की सीमा पर कोई तनाव नही है,सरहद पर रहने वाले स्थानीय लोगों को कोई चिंता करने वाली बात नही है,सेना प्रमुख विपिन रावत आज बृहस्पतिवार को चमोली जोशीमठ से लगे चीन सीमा क्षेत्र मे भारतीय सेना के गढ़वाल वोरियर इको टास्क फोर्स के विजन प्लांटेशन फॉर लेवलीहुड प्रोग्राम मे शिरकत करने मलारी पहुचे। 
 बृहस्पतिवार को सेना प्रमुख सुबह दस बजे सेना के ध्रुव हेलीकॉप्टर से मलारी के सेना हेलीपेड पर पहुंचें। उन्होंने यहां स्थानीय ऋतुप्रवासी लोगों से भेंट कर उनकी विभिन्न समस्याओ को सुना, साथ ही सीमांत घाटी मे पलायन रोकने के लिए बागवानी को बढावा देने हेतु 127TA बटालियन द्वारा  आयोजित वृक्षारोपण समारोह मे  अखरोट और चिलगोंजा के पौधों का रोपण कर ग्रामीणों को इनकी देखभाल करने का संकल्प दिलाया,मलारी गाँव के भोटिया जनजाती के लोगो ने जनरल रावत का ढोल दमाऊ की थाप पर गर्म जोशी से स्वागत किया,लोगों ने सीमांत गाँवों मे सबसे बड़ी समस्या संचार को लेकर जनरल रावत को अवगत कराया, 
साथ ही जनरल रावत ने चीन सीमा क्षेत्र में सरहद से लगी सेना की मलारी सहित अन्य चौकियों में तैनात जवानों से भी भेंट कर उनके साथ जलपान  कर उनका जोश और मनोबल बढाया।और बेहतर कार्य करने वाले सेना के अधिकारी और सैनिको को सेना प्रशस्ती पत्र मेडल भी प्रदान किये, सेना प्रमुख दोपहर 12बजे तक मलारी में रहें। इसके बाद हेलीकॉप्टर से दिल्ली के लिए रवाना हो गये,