रूद्रप्रयाग में वन स्टॉप सेंटर शुरू : हिंसा पीडित महिलाओं को मिलेगी सहायता

रूद्रप्रयाग में  वन स्टॉप सेंटर शुरू :  हिंसा पीडित महिलाओं को मिलेगी सहायता

वन स्टॉप सेंटर की केन्द्र प्रशासक रंजना गैरोला भट्ट

-कुलदीप राणा आज़ाद /रूद्रप्रयाग
रूद्रप्रयाग। हिंसा से प्रभावित महिलाओं को संरक्षण, मार्ग-दर्शन और सहायता देने के लिए भारत सरकार के महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा प्रत्येक जिलों में वन स्टॉप सेंटर की स्थापना की जा रही है। रूद्रप्रयाग जिला मुख्यालय में इस सेंटर ने कार्य आरंभ कर दिया है। इसकी अवस्थापना सुविधाओं पर काम शुरू हो गया है। इसके अन्तर्गत निजि अथवा सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक, मानसिक यौन, आर्थिक आदि दुर्व्यवहार से ग्रस्त महिलाओं को चिकित्सा, मनोवैज्ञानिक, कानूनी सहायता उपलब्ध कराने का प्रबन्ध होगा।
रूद्रप्रयाग में पुराने विकास भवन के भूतल में स्थापित वन स्टॉप सेंटर की केन्द्र प्रशासक रंजना गैरोला भट्ट ने बताया कि इस केंद्र में पैरा लीगल, पैरामेडिकल, पुलिस सुविधा अधिकारी नियुक्त किये जा रहे हैं जो पीडित महिलाओं को वांछित सुविधायें उपलब्ध करायेंगे,पीड़ित महिलाओं के तात्कालिक आवास एवं भोजन की व्यवस्था के लिये भी आवश्यक सुविधायें जुटाई जा रही हैं। केन््र प्रशासक ने पीड़ित महिलाओं एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं से अनुरोध किया है कि वे इस संबंध में वन स्टाॅप सेंटर से सम्पर्क करें। 
रूद्रप्रयाग में वन स्टॉप सेंटर शुरू : हिंसा पीडित महिलाओं को मिलेगी सहायता रूद्रप्रयाग में  वन स्टॉप सेंटर शुरू :  हिंसा पीडित महिलाओं को मिलेगी सहायता Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on October 01, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.