Breaking News

Thursday, 17 October 2019

करछूना गाँव में 17 वोट अधिक पड़े या 25 वोट? बड़ा सवाल तो है लेकिन कन्फ्यूजन भी!

करछूना गाँव में 17 वोट अधिक पड़े या 25 वोट? बड़ा सवाल तो है लेकिन कन्फ्यूजन भी! 

107 प्रतिशत मतदान होना निर्वाचन कर्मियों की घोर लापरवाही को दर्शाता
-कुलदीप राणा आजाद/सम्पादक 

चमोली। त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के दूसरे चरण में चमोली जनपद के विकासखण्ड पोखरी के करछूना पोलिंग बूथ पर मतदान के हैरान और परेशान करने वाले आँकड़े सामने आये हैं। इस बूथ से 107.69 मतदान प्रतिशत सुनकर हर किसी को हैरानी होगी लेकिन फर्जी वोटिंग की इस गणित में कई कन्फ्यूजन करने वाले आँकड़े भी सामने आ रहे हैं। निर्वाचन अधिकारी विकास खण्ड पोखरी द्वारा जारी सूची के अनुसार करछूना मतदान केन्द्र पर महिला पुरूष वोटरों की कुल संख्या 221 है, लेकिन यहां पर जब मतदान हुआ तो मतदान करने वालों की संख्या 238 जा पहुँची, यानि की 17 वोट फर्जी तरीके से ज्यादा डाले गए। लेकिन जब हम महिला मतदाताओं के आँकड़ों पर गौर फरमाते हैं तो सारी गणित कन्फ्यूज में पड़ जाती है। इसी बूथ पर महिला मतदाताओं की संख्या 124 है जबकि इस मतदान बूथ पर 149 महिलाओं ने अपने मत का प्रयोग किया। यानी की साफ जाहिर हो रहा है कि 25 महिलाओं के मतदान फर्जी हुए हैं। पर अब सवाल यह है कि कुल वोटरों के योग से अधिक 17 वोटो को फर्जी  माने या फिर कुल महिला मतदाओं की संख्या से अधिक 25 महिलाओं की वोट फर्जी कहें। जो भी हो लेकिन एक बात तो साफ है कि इस प्रकार की गम्भीर लापवाही चुनाव आयोग की निष्पक्षता और पारदर्शिता से चुनाव करवाने के दावों की कलई खोल है। जिलाधिकारी चमोली को इस मामले का गम्भीरता से संज्ञान लेना चाहिए और लापरवाह और गैरजिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कठोर कार्यावाही की जानी चाहिए। ताकि लोकतंत्र पर लोगों का विश्वास बना रहे।