Breaking News

Friday, 20 September 2019

आबकारी इन्सपेक्टर ने दो बोतल शराब पकड़े पर लहुलुहान कर दिया युवक को

आबकारी इन्सपेक्टर ने दो बोतल शराब पकड़े पर लहुलुहान कर दिया युवक को 
-डैस्क केदारखण्ड एक्सप्रेस
रूद्रप्रयाग: तस्वीर देखकर आप खुद ही अंदाजा लगायेंगे कि रूद्रप्रयाग जनपद में कानून का नहीं बल्कि गुंडों का राज चल रहा है। ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है जहाँ आबकारी विभाग के अधिकारियों द्वारा एक युवक को उसके घर से दो बोतल शराब मिलने पर पूरे गाँव के सामने डंडों से पीटपीट कर बुरी तरह जख्मी कर दिया गया। पूरा ममला तब प्रकाश में आया जब पीड़ित राकेश सिंह पुत्र स्व. महावीर सिंह, निवासी सौंराखाल द्वारा शुक्रवार की सुबह जिला मुख्यालय आकर जिलाधिकारी को अपने साथ हुए बर्बरता पर न्याय की मांग की गई। राकेश सिंह ने कहा कि वृस्पतिवार को दोपहर दो बजे करीब आबकारी विभाग के अधिकारी कुछ स्थानीय युवकों के साथ उनके घर पर आये और पहले तो उनसे शराब की बोतल की मांग करने लगे लेकिन जब मेरे द्वारा मना किया गया तो पूरे घर में सामान को बिखराकर छापामारी करने लगे। पीड़ित ने कहा कि मेरे रिश्तदारों द्वारा मेरे खुद के उपयोग के लिए दो बोतल शराब की दी गई थी, लेकिन विभाग ने केवल उन दो बोतलों को आधार बनाकर मुझे बुरी तरह डंडों से मारा। जबकि कफना गांव में किसी अन्य के घर से बरामद 9 शराब की बोतलों को भी मेरे घर पर दर्शाया गया। पीड़ित ने ने जिलाधिकारी से कार्यवाही की मांग की है। 
उधर आबाकारी विभाग के अधिकारी के0 पी0 सिंह ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में नहीं है, पूरी जानकारी लेने के बाद ही कुछ कह पायेंगे। जबकि युवक के साथ मारपीट करने वाले आबकारी इन्सपेक्टर एन0 एस0 मारतोलिया ने कहा कि युवक चण्डीगढ़ ब्रांड की शराब का करोबार करता है जिसकी शिकायत कई दिनों से मिल रही थी, मुखबीर की सूचना पर कार्यावाही की गई, जिसके बाद युवक के कब्जे से दो चण्डीगढ़ ब्रांड की शराब की बोतले बरामद की गई जबकि नौ बोतलें कफना गांव में किसी अन्य के यहां छुपा रखी थी। उन्होंने मारपीट के मामले कहा कि किसी भी अधिकारी द्वारा उनके साथ मारपीट नहीं की गई। 
यह बिल्कुल सही भी है कि त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के मध्यनजर अवैध शराब को लेकर आबकारी विभाग ने अभियान चयाये हुए है, और अवैध शराब माफियाओं की धर पकड़ कर रहे हैं लेकिन शराब के कारोबारियों को मौके पर ही इस प्रकार बुरी तरह मारने का हक आखिर आबकारी अधिकारियों को किसने दे दिया? दूसरी तरफ जिले की  अेंग्रजी शराब की दुकानों में धडल्ले से ओवर रेंटिक शराब बिक रही है लेकिन वहां आबकारी विभाग द्वारा कोई कार्यावाही नहीं की जा रही है।