Breaking News

Thursday, 12 September 2019

सिस्टम के खिलाफ अब ठेकेदारों ने कसी कमर, लड़ाई मजबूती से लड़ने के लिए किया संगठन का पुर्नगठन

सिस्टम के खिलाफ अब ठेकेदारों ने कसी कमर, लड़ाई मजबूती से लड़ने के लिए किया संगठन का पुर्नगठन
बैठक में उपस्थित ठेकेदार 

-डैस्क केदाखण्ड एक्सप्रेस

रूद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग जनपद में विभिन्न सरकारी निर्माण विभागों में छोटे कार्यों को भी ई-टेन्डिरिंग के जरिए करवाने के खिलाफ अब ठेकेदार संघ एकत्रित होने लगे हैं। जनपद में कुछ समय से मृत पड़े ठेकेदार संगठन को पुर्नजीर्वित कर सभी पदाधिकारियों और सदस्यों ने संगठन के हितों में मजबूती से कार्य करने का संकल्प लिया। 
काली कमली धर्मशाला पोद्दार में सूरत सिंह राणा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई बैठक में करीब 50 से अधिक ठेकेदारों ने प्रतिभाग किया और छोटे ठेकेदारों के उत्पीड़न को लेकर गम्भीर चिंता जाहिर की। ठेकेदारों ने कहा कि लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण, पीएमजीएसवाई, लघु सिंचाई, सिंचाई सहित विभिन्न निर्माण विभागों में विभागाध्यक्षों द्वारा अपने चेहतों और बाहर के बड़े पूंजीपत्तियों को ठेके दिलवाने के लिए सभी कार्य ई-टेंन्डिरिंग के द्वारा करवाये जा रहे हैं जबकि कई बार तो इन कार्यों की निविदायें भी नहीं निकाली जा रही हैं। ऐसे में स्थानीय और छोटे ठेकेदार बेरोजगार हो रहे हैं जिससे उनके सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। उन्होंने विभागोें की गलत नीतियों के खिलाफ मजबूती के साथ लड़ाई लड़ने का फैसला लिया, सर्व सम्मति से निर्णय लिया गया कि ठेकेदारों की समस्याओं को लेकर एक शिष्ट मण्डल जल्द मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत को मिलेगा। बैठक में अजय पंवार, शैलेन्द्र भारती, नागेन्द्र बिष्ट, कुलदीप कण्डारी, गोविंद प्रसाद डिमरी, नरेन्द्र चैहान, प्रमोद भण्डारी, नत्था सिंह, बिक्रम कण्डारी, नंदन सिंह नेगी, दुर्गा सिंह रावत, सुरेन्द्र जोशी, दिगम्बर रमल्वाण, विरेन्द्र डोभाल, रणवीर सिंह नेगी, चण्डी प्रसाद सेमवाल, नागेन्द्र बत्र्वाल, शैलेन्द्र रावत, कुलदीप बिष्ट, राजेन्द्र कठैत, रविन्द्र असवाल, नरेन्द्र रावत, चन्द्रमोहन जगवाण, श्रवण बुटोला आदि शामिल थे।