गरीबी ने कर दिया राजकुमार को मौत की दहलीज पर खड़ा

गरीबी ने कर दिया राजकुमार को मौत की दहलीज पर खड़ा : मदद की दरकार
बीमार राजकुमार 
-कुलदीप राणा आजाद

कहते हैं जिंदगी में सबसे बड़ा अभिशाप गरीबी होती है, लेकिन गरीबी में दुःख बीमारी लग जाय तो यह इन्सांन को जीते-जी मार देती है। गुप्तकाशी के ल्वारा गाँव निवासी 25 वर्षीय राजकुमार इन दिनों इन्हीं विकट परिस्थियों से गुजर रहे हैं। भारी गरीबी और आर्थिंक तंगी के बीच ब्लड़ केंसर जैसी घातक बीमारी ने आज राजकुमार को मौत की दहलीज पर पहुँचा दिया है। स्थिति इतनी विकट है कि दो माह पूर्व एम्स चिकित्सालय ने जब हाथ खड़े कर इन्हें भगवान भरोसे घर भेज दिया था उसके बाद परिवार के पास राजकुमार की दवाई बाकि बची जिंदगी के लिए दवाई तक के पैंसे नहीं हैं। 
रूद्रप्रयाग जनपद के उखीमठ विकासखण्ड के गुप्तकाशी ल्वारा गाँव का राजकुमार आज मौत से लड़कर जिंदगी बचाने की जदोजहद कर रहा है। दरआसल चार माह पूर्व राजकुमार जब बीमार हुआ तो उन्हें रूदप्रयाग जिला चिकित्सालय में लाया गया। कुछ दिनों के इलाज के पश्चात भी जब वह ठीक नहीं हुए तो उन्हें श्रीनगर बेस अस्पताल और फिर ऋषिकेश एम्स में भर्ती हो गए। ब्लड़ कैंसर जैसी प्राणघातक बीमारी से घिर चुके राजकुमार को ठीक करने का प्रयास डाॅक्टरों ने लम्बे समय तक किया लेकिन अंततः डाॅक्टर भी हार मान गए और उन्हें ईश्वर के भरोसे वासप घर भेज दिया। पत्नी पिंकी देवी बताती है कि किसी तरह ध्याड़ी-मजदूरी करके जीवन यापन कर रहे थे लेकिन इस बीमारी ने उन्हें भारी कर्जें में भी डूबो दिया। रूआवसे स्वरों में वो कहती हैं ‘‘मेरे पति मेरे सामने तड़प रहे हैं, लेकिन मेरे पास उन्हें दवाई लाने तक के लिए पैंसे नहीं हैं‘‘गरीबी और हालातों से पस्त पिंकी देवी का करूण रूदन गरीबी के बीच आई इस बीमारी रूपी आपदा को साफ बयां कर रहा थी। तीन अबोध बच्चों की जिम्मेदारी और बीमार पति के दवा का खर्चा बिना किसी रोजगार के उठाना पिंकी को भी जीते-जी-मौत जैसा लग रहा है। 
सोमवार को फिर राजकुमार की तबियत खराब हुई तो ग्रामीणों के साथ पिंकी ने पति को बेस चिकित्सालय श्रीनगर ले गई। लेकिन बिना पैंसे के कैसे वह ईलाज और अन्य खर्च वहन करेंगी यह चुनौति बनी हुई है। केदारखण्ड एक्सप्रेस आप सभी से आग्रह करता है कि इस मुशीबत और कठिन दौर में पिंकी की सहायता कर उसके पति राजकुमार को मौत मुँह से बचाने में अपना योगदान दें। हम सबकी मुहिम होना हो राजकुमार को पुर्नजन्म जैसे जीवन देने में कायमयाब हो। 

इस गरीब परिवार के मदद के लिए आप राजकुमार की पत्नी पिंकी देवी के खाते में पैंसे डाल सकते हैं-
पिंकी देवी पत्नी राजकुमार
खाता संख्या- 76013752963
आईएफएससी कोड SBIN0RRUTGB
उत्तराखण्ड ग्रामीण बैंक
गरीबी ने कर दिया राजकुमार को मौत की दहलीज पर खड़ा गरीबी ने कर दिया राजकुमार को मौत की दहलीज पर खड़ा Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on September 03, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.