देहरादून सचिवालय से चला पत्र सात माहिने बाद भी नहीं पहुंचा लोक निर्माण विभाग उखीमठ के कार्यालय में

देहरादून सचिवालय से चला पत्र सात माहिने बाद भी नहीं पहुंचा लोक निर्माण विभाग उखीमठ के कार्यालय में 
-कुलदीप राणा आज़ाद 

फरवरी में मिल गई थी सड़क की स्वीकृति, सर्वे टीम आज पहुंची तरसाली गॉव

रूद्रप्रयाग। देहरादून सचिवालय से तरसाली गांव की सड़क का  स्वीकृति पत्र 25 फरवरी को रूद्रप्रयाग के उखीमठ लोक निर्माण विभाग के लिए प्रेषित किया गया था लेकिन अफसोस   की बात यह है कि सात महिने बाद भी वह लेटर अब तक उखीमठ नहीं पहुंच पाया है। जिस कारण विभाग कार्ब्य नहीं कर रहा था, हालांकि बरसों से सड़क की मॉग कर रहे है विकासखंड उखीमठ के तरसाली गांव के लोगों में आज उस वक्त खुशी का मौहाल है जब सड़क की सर्वे करने के लिए टीम गांव पहुुंची ।
आजादी के 70 साल और उत्तराखंड राज्य के 19 बरस बाद ग्रामीणों की बुनियादी सुविधा सड़क की मां पूरी होने की दिशा में आगे बढ रही है। तरसाली गाँव के लिए 3 किलोमीटर मोटर मार्ग निर्माण की प्रथम चरण की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति उप सचिव उत्तराखंड शासन द्वारा इस वर्ष 25 फ़रवरी को दी जा चुकी थी। जिसकी प्रतिलिपि प्रमुख अभियंता लोनिवि देहरादून,  मुख्य अभियंता , क्षेत्रीय कार्यालय लोनिवि पौड़ी, अधीक्षण अभियंता सिविल वृत्त लोनिवि रुद्रप्रयाग और अधिशासी अभियंता निर्माण खण्ड लोनिवि ऊखीमठ को भी की गई थी। लेकिन कमाल की बात तो देखिए  सात माह व्यतीत होने बाद भी शासन का पत्र लोनिवि उखीमठ को प्राप्त नहीं हुआ है जिस कारण इस मोटर मार्ग पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।
गांव के सामाजिक कार्यकर्ता जगत राम सेमवाल द्वारा लगातार इस मामले को लेकर संबंधित विभागों से वार्ता करते रहे और देहरादून शासन से स्वीकृति पत्र की की कॉपी मंगाई तो वे भी हैरान रह गये, फरवरी माह में मोटर मार्ग के प्रथम चरण की स्वीकृति मिलने बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उधर लोक निर्माण विभाग उखीमठ के अधिशासी अभियंता मनोज दास का कहना है कि विभाग को तरसाली मोटर मार्ग की कोई स्वीकृति पत्र प्राप्त नहीं हुआ, हालांकि ग्रामीण द्वारा भेजे गये शासन के पत्र को आधार मानकर आज गांव में सर्वे टीम भेज दी है।
शासन चला फरवरी माह का पत्र 

तरसाली मोटर मार सर्वे के लिए गयी टीम को देखकर ग्रामीणों में बेहद उत्साह और  हर्ष का माहौल है । सभी ने सर्वे टीम का स्वागत किया अपने ईष्ट देव की पूजा नारियल धुप अगरबत्ती से कार्य आरम्भ करवाया। ऊखीमठ निर्माण खण्ड से सर्वे टीम में आए सुमन राणा, मेट प्रेम लाल थे, उनके साथ गाँव के शारदानंद सेमवाल, विष्णुदत्त सेमवाल, उदयराम अंथवाल, प्रियधर अंथवाल, विजयराम अंथवाल परमानन्द जी मनोज सेमवाल, धर्मानन्द सेमवाल आदि थे। ग्राम तरसाली के महिलाओं ने सोमवार को जहाँ से मोटर मार्ग का सर्वे होना है वहाँ की झाड़ियों को काटने में श्रमदान सहयोग देने को कहा है ताकि कार्य की गति तेज़ हो सके। ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों से अपेक्षा और आग्रह किया है कि कार्य को समय रहते पूरा किया जाय।

देहरादून सचिवालय से चला पत्र सात माहिने बाद भी नहीं पहुंचा लोक निर्माण विभाग उखीमठ के कार्यालय में देहरादून सचिवालय से चला पत्र सात माहिने बाद भी नहीं पहुंचा लोक निर्माण विभाग उखीमठ के कार्यालय में Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on September 21, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.