ना आधार कार्ड ना राशन कार्ड, इस गरीब के द्वार तक कैसे पहुँचेगी सरकारी योजना

ना आधार कार्ड ना राशन कार्ड, इस गरीब के द्वार तक कैसे पहुँचेगी सरकारी योजना
मोतीलाल
-नरेन्द्र सिंह कण्डारी/रूद्रप्रयाग
रूद्रप्रयाग। जनपद विकासखण्ड अगस्त्यमुनि के पिल्लू गांव निवासी मोतीलाल 66 साल की उम्र में भी सरकार की सभी योजनाओं से वंचित हैं। वर्षों पूर्व पत्नी के देहांत के बाद वे अगस्त्यमुनि अपनी बहन के यहां रहकर ध्याड़ी मजदूरी करने लगे। लेकिन अब बुढ़ापा आ गया है। शरीर जवाब दे रहा है लेकिन आय का कोई साधन न होने के कारण बची जिन्दगी के दिन गुजारने मुश्किल हो गए हैं। कहने के लिए सरकार की वृद्धा अवस्था पेंशन जरूर है लेकिन इस वृद्ध व्यक्ति के पास राशन कार्ड, आधार कार्ड, फोटो पहचान पत्र जैसे महत्वूपर्ण दस्तावेज ही नहीं बने हैं तो आखिर सरकार की योजनाओं का लाभ भी मिले तो कैसे? मोतीलाल की पहचान के नाम पर  क्षेत्रीय ग्राम विकास अधिकारी से दूरभाष पर इनका परिवार रजिस्टर नकल मिल पाया है। स्थानीय लोगों द्वारा जिलाधिकारी से वृद्ध व्यक्ति को अत्योदय का राशन कार्ड बनवाकर इन्हें सस्ती राशन और वृद्धावस्था पेंशन लगाने के लिए मांग की है। लेकिन सबसे बड़ा और गम्भीर सवाल यह उठता है कि आखिर जिन लोगों के लिए ये योजनाएं बनाई जाती हैं आखिर वे इन योजनाओं से वंचित कैसे रहे हैं जाते हैं।  

ना आधार कार्ड ना राशन कार्ड, इस गरीब के द्वार तक कैसे पहुँचेगी सरकारी योजना ना आधार कार्ड ना राशन कार्ड, इस गरीब के द्वार तक कैसे पहुँचेगी सरकारी योजना Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on August 08, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.