कारनामा: बिना परीक्षा दिए दे दिए 21 अंक, पेपर देने वाले छात्रों को कर दिए फेल

कारनामा: बिना परीक्षा दिए दे दिए 21 अंक, पेपर देने वाले छात्रों को कर दिए फेल
ऐरो के निशान पर देखिए बिना पेपर दिए दे दिए 21 अंक
-कुलदीप राणा आजाद

पोखरी। हिमवंत कवि चंन्द्र कुंवर बत्र्वाल राजकीय स्नाकोत्तर महाविद्यालय नागनाथ पोखरी के छात्रों के भविष्य के साथ श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय अजीबो गरीब खिलवाड़ कर रहा है। श्रीदेवसुमन विश्वविद्यालय की भारी लापरवाही विसंगतियों का  आलम तो देखिए सत्र 2019-19 नागनाथ पोखरी महाविद्यालय की बीएससी सेकेंड सेमेस्टर की छात्रा पूर्वशाी पोखरियाल ने एक विषय का पेपर ही नहीं दिया लेकिन जब अंक तालिका उसके हाथ में आई तो वह भी हैरान रह गई। जिस विषय का उसने पेपर नहीं दिया था उसमें 21 अंक उसे दिए गए हैं। लेकिन लापरवाहियों का आलम यहीं खत्म नहीं होता है इसी काॅलेज में बीएससी 75 छात्रों में सिर्फ तीन छात्र पास हो रखे हैं जबकि अन्य छात्रों द्वारा सभी पेपर पूर्ण रूप से दिए गए थे। छात्रों द्वारा पुर्नमूल्यांकन की मांग की जा रही है लेकिन छात्रों की कई कोई सुनवाही नहीं हो रही है। इसी तरह बीए की भी है। छात्रों द्वारा शतप्रतिशत काॅलेज में उपस्थिति होने के बाद भी उन्हें अनुपस्थित दर्शाया गया है जबकि बीए में 200 छात्रों के सापेक्ष के 50 को ही पास कर रखा है। 
नागनाथ पोखरी महाविद्यालय के छात्र काॅलेज में ताला बंदी कर विरोध करते
इस अजीबो-गरीब कारनामें से भले ही आप और हम अचभित जरूर हो रहें हैं लेकिन यकीन मानिए लापरवाहियों और अनिमिताओं के मामले में अभ्यस्त हो चुके श्रीदेवसुम विश्वविद्यालय प्रशासन को कोई फर्क नहीं पड़ता है। छात्र कितने ही आंदोलन क्यों न करें, रोए, चिल्लाए, या किसी का भविष्य खराब हो जायें लेकिन यह विश्वविद्याल अपनी मनमानी से बाज नहीं आएगा। जीरो टोलरेंस की नीति पर काम करने वाले मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत जरा देखिए आप के अंधेर राज में आपकी सैना अपकी मंशा को खुले आम पलीता लगा रहे हैं। इस भ्र्रष्ट सिस्टम के साताये छात्र सवाल पूछ रहे हैं आखिर यहां कहां गया आपका अनुशासन। अपनी फरियाद लेकर आई एक शिक्षिका को आपने भरे जनता दरबार में जेल में ढूंसने का हुक्म सुना दिया था लेकिन नौनिहालों के भविष्य से खिलवाड़ कर रहे विश्वविद्यालय के इन भष्ट्र शिक्षकों पर कब कार्यवाही होगी। 
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत भले इन पर कार्यावाही करें न करें लेकिन नागनाथ पोखरी महाविद्यालय के सताए छात्र जरूर अब आर-पार की लड़ाई करने के लिए तैयार हैं। छात्रों द्वारा काॅलेज की विभिन्न मांगों को लेकिन धरना प्रर्दश किया जा रहा है। पूर्व छात्र अध्यक्ष संदीप बत्र्वाल ने कहा कि जब तक छात्रों की सभी मांगों को शासन-प्रशासन द्वारा पूरा नहीं किया जायेगा तब तक आन्दोलन खत्म नहीं किया जायेगा। 
कारनामा: बिना परीक्षा दिए दे दिए 21 अंक, पेपर देने वाले छात्रों को कर दिए फेल कारनामा: बिना परीक्षा दिए दे दिए 21 अंक, पेपर देने वाले छात्रों को कर दिए फेल Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on August 18, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.