Breaking News

Sunday, 11 August 2019

चमोली में फिर प्रकृति का तांडव तीन की मौत

चमोली में फिर प्रकृति का तांडव, तीन की मौत   
आफत के गदेरे की चपेट में आये आवासीय भवन
 -पुष्कर नेगी/केदारखण्ड एक्सप्रेस

चमोली।  पहाड़ो में इन दिनों प्रकृति अपना रौद्र रूप दिखा रही है। चमोली जनपद में बीती रात को आई भारी बारिश के चलते घाट ब्लॉक के बांजबगड के ऊपर बदल फटने से आये मलवे में दबने से तीन लोगों की मौत हो गयी है। घटना की सूचना मिलने पर रेस्क्यू टीम रवाना हो गयी है। पिछले दिनों देवाल के फल्दिया गांव की घटना को लोग भूले भी नहीं थे कि बीती रात को आई भारी बारिश के कारण थराली विधानसभा के घाट ब्लाक में आसमानी आफत का कहर ऐसा बरपा की यहां मलबे में दबने से तीन लोगों की असामायिक मौत हो गयी। घाट ब्लॉक के बांजबगड गांव में तड़के पांच बजे वज्रपात होने से बाजबगड़ में एक मकान में मलबा घुसने से मां बेटी व आली तोक में एक युवती की मौत हो गयी। स्थानीय लोग व आपदा प्रबंधन टीम मौके पर रेस्क्यू कर रही है। आपदा कंट्रोल रूम के अनुसार तड़के बांजबगड़ मे वज्रपात हुआ,  बांजबगड़ में अब्बल सिंह का मकान मलबे में दब गया, घर के अंदर सो रही अब्बल सिंह की 35 वर्षीय पत्नी रूपा देवी व नौ माह की बेटी चंदा की दबकर मौत हो गई।
आली गांव में भी भूस्खलन से नेनू राम का मकान दबा है। नेनू राम की 21 वर्षीय बेटी नौरती की मौत हो गई। आपदा प्रबंधन टीम के साथ स्थानीय लोग रेस्क्यू में जुटे हैं। वहीं क्षेत्र के बादल फटने से चुफला गाड के उफान पर होने से घाट में दो मकान व तीन दुकाने बह गई हैं। आसमानी कहर से समूचा जिला सहमा हुआ है और जरा सी बारिश में लोग सिहर जाते हैं। प्रशासन आपदाग्रस्त क्षेत्रों में पीड़ितों को अधिक से अधिक राहत देने के लिए जुटा हुआ है।

Adbox