Breaking News

Wednesday, 28 August 2019

उमरानारायण मंदिर का क्षेत्र की झाड़ियों में लडा रहे इश्क़, ग्रामीणों ने घेरा.. इश्कबाजों को किया कानून के हवाले

उमरानारायण मंदिर परिसर की झाड़ियों में लडा रहे इश्क़, ग्रामीणों ने घेरा इश्कबाजों को  : किया कानून के हवाले
भीड़ की चंगुल में प्रेमी
-कुलदीप राणा आज़ाद /रूद्रप्रयाग 
रूद्रप्रयाग। मुख्यालय के नजदीक  प्रसिद्ध धार्मिक स्थल उमरानारायण मंदिर क्षेत्र में एक प्रेमी जोड़ा झाड़ियों में  इश्क लडा रहे थे, उमरानारायण के महंत सरजू दास ने जब देखा तो हल्ला किया, दोनों जंगल के रास्ते नौ-दो-ग्यारह हो गये, लेकिन जिस बुलेरो गाड़ी में वे यहां आए थे वह वहीं छोड़ गये। बाद में यहां के स्थानीय सौड गांव के ग्रामीणों ने दोनों  को पकड़ लिया और उमरानारायण ले गये। दरअसल पिछले कुछ सालों से उमरानारायण और कोटेश्वर जैसे पवित्र तीर्थ स्थलों को इश्कबाजी का अड्डा बना दिया है, जिससे इन तीर्थ स्थलों की बदनामी तो हो ही रही है वहीं इश्क़बाजो के आपत्तिजनक हरकतों से स्थानीय ग्रामीण महिलाओं, बेटियों पर भी बुरा प्रभाव पड रहा है।
ऐसे मे गुस्साए ग्रामीण ने आज दोनों कपल को घेर दिया, हालांकि ग्रामीण इतने संयमित थे कि उन्होंने हिंसा का रूप नहीं लिया अन्यथा भीड़तंत्र के बीच बडी घटना हो सकती थी। 
यहा दोनों से पूछताछ हुई तो पता चला कि धर्मेंद्र कुमार कांदी गांव का रहने वाला जनपद के एक सामान्य जाति की लड़की से पिछले कई महीनों से इश्क़ लडा रहा है, लडकी के मुताबिक इन दोनों का पिछले दो माह से कोई सम्पर्क नहीं था, लेकिन लडके के पास लड़की कुछ साथ में खींची हुई फोटो थी जिन्हे वायरल करने की धमकी देकर लडकी को अपने साथ बुलाया गया। बदनामी की डर से लडकी पुन: आज लडके साथ यहां आई थी जिन्हें भीड़ ने पकड़ लिया।
क्षेत्रीय पटवारी को घटना की जानकारी दी गई, मौके पर पहुंचे राजस्व उपनिरीक्षक दुर्गा रावत ने दोनो के परिजनों को बुलाया। स्थानीय लोगों ने लिखित में दोनों को परिजनों के हवाले किया और भविष्य में मंदिर परिसर और इसके नजदीक इस प्रकार के महौल खराब न करने की चेतावनी दी। दोनों पक्षों से आये परिजनों ने लोक लाज और बदनामी की डर से मामले में समझौता कर दिया। 
राजस्व उपनिरीक्षक दुर्गा प्रसाद ने कहा कि दोनों प्रेमी जोड़े को भीड़ द्वारा घेरा गया था, सुरक्षा की दृष्टि से दोनों को चौकी लाया गया, और परिजनों के सामने दोनों प्रेमियों के बीच भविष्य में किसी भी प्रकार के संबंध न होने की शर्त पर समझौता किया गया। 
उमरानारायण मंदिर के महंत सरजू दास का कहना है कि उमरानारायण जैसे पवित्र तीर्थ में आए दिन कपल जोड़े आ रहे हैं और इस तीर्थ को बदनाम कर रहे हैं जबकि शराबियो का अड्डा अलग बना रखा हैं। उन्होंने ने कहा कि पुलिस प्रशासन को इस क्षेत्र के बिगडते माहौल पर अंकुश लगाने के लिए कोई ठोस कदम उठाने चाहिए।
Adbox