Breaking News

Friday, 23 August 2019

मुख्यमंत्री जी कहते हैं भांग की खेती करों, यहां परेशान ग्रामीण ने भांग की खेती नष्ट करने की गुहार लगाई जिलाधिकारी से

मुख्यमंत्री जी कहते हैं भांग की खेती करों, यहां परेशान ग्रामीण ने भांग की खेती नष्ट करने की गुहार लगाई जिलाधिकारी से

-बलवंत रावत/केदारखण्ड एक्सप्रेस 
नई टिहरी।  एक ओर सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत प्रदेश में भांग की खेती को बढावा देकर भांग के रेशों से स्वरोजगार अपनाकर देश की आर्थिकी मजबूत करना चाहते हैंं तो वहीं इसी भांग के कारण कुछ गांव नसेडियो के अातंक से परेशान हैं। भिलंगना विकासखंड के सीमांत गांव मेड़ के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजकर समस्याओं को हल करने की मांग की है। उन्होंने गांव में अवैध भांग की खेती को नष्ट करने, गांव में जनता दरबार लगाने और भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को हटाने की मांग की है।
मंगलवार को डीएम को मिले गांव के प्रतिनिधिमंडल ने बताया कि सीमांत गांव मेड़, मरवाड़ी और निवालगांव सहित आसपास के गांवों की समस्याओं को हल करने के लिए सभी विभागों का जनता दरबार लगाया जाए। कहा कि गांव के पास वन भूमि पर लोगों ने अवैध कब्जे जमा लिए हैं और वहां पर भांग की खेती की जा रही है। जिससे युवा नशे की ओर बढ़ रहे हैं। इस संबंध में प्रभागीय वनाधिकारी को पूर्व में भी पत्र लिखकर अवगत कराया गया लेकिन कोई कार्रवाही नहीं हुइ है। कहा कि यदि उक्त मांगों पर जल्द कार्रवाही नहीं होती है तो ग्रामीण आंदोलन शुरू करने को बाध्य होंगे। डीएम ने सकारात्म कार्रवाही का आश्वासन दिया है। प्रतिनिधिमंडल में प्यार सिंह, सुरेंद्र सिंह शामिल थे।