Breaking News

Friday, 30 August 2019

नगर पालिका बन गया अखाड़ा : ठेकेदार ने फाड़ी सरकारी फाइलें

नगर पालिका बन गया अखाड़ा : ठेकेदार ने फाड़ी सरकारी फाइलें

-जगपाल सिंह/केदारखण्ड एक्सप्रेस 
सितारगंज। सितारगंज में एक बड़ा मामला सामने आया है जहां एक ठेकेदार ने बारह साल पुराने भुगतान को लेकर नगरपालिका  पहुंचकर जमकर हंगामा काटते हुए पालिका अध्य्क्ष के साथ बदसलूकी करते हुए कर्मचारियों से अभद्रता गाली गलौज की। कर्मचारियों के रोकने पर ठेकेदार ने सरकारी फाइलें  फाड़ दी। 
 वीओ-सितारगंज नगर पालिका उस समय अखाड़े में तब्दील हो गई जब एक ठेकेदार ने नगरपालिका पहुंचकर जमकर हंगामा काटा और पालिका कर्मचारी पर 25 %कमीशन मांगने का आरोप लगाया। इस दौरान ठेकेदार और पालिका अध्यक्ष हरीश दुबे के बीच तीखी नोकझोक भी हुई।पालिका अध्यक्ष हरीश दुबे ने बताया कि  ठेकेदार इकशाद अहमद का कहना था कि वर्ष 2007 में  उसने निर्माण का कार्य किया था। जिसका उसको अभी तक भुकतान नही हुआ है ।तत्कालीन बोर्ड ने उनके पेमेंट पर रोक लगा दी थी ।जिसको लेकर ठेकेदार पालिका परिसर पहुंचा और भुगतान को लेकर कर्मचारियों से अभद्र करने लगे कर्मचारियों ने उनसे कहा कि पुरानी फाइल देख कर ही पेमेंट के बारे में वह कुछ बता सकते हैं इस पर ठेकेदार आग बबूला हो गए उन्होंने गाली-गलौज करते हुए सरकारी फाइलें फाड़ दी इसके साथ ही उन पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगा दिये। जबकि आरोप लगाने वाले ठेकेदार ने पालिका अध्यक्ष हरीश दुबे के कार्यकाल में कोई भी निर्माण कार्य नहीं किया है इस तरीके का दावा चेयरमैन दुबे ने किया है हरीश दुबे ने कहा कि भ्रष्टाचार के आरोपों की उच्च स्तरीय जांच कराई जाएगी जांच में दोषी पाए जाने वाले कर्मचारियों पर कार्रवाई होगी दोषी ना मिलने पर आरोप लगाने वाले ठेकेदार के खिलाफ मानहानि का दावा किया जाएगा। चेयरमैन ने ठेकेदार के साथ ही कुछ पत्रकारों पर भी नगर पालिका को बदनाम करने ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है उन्होंने कहा कि ब्लैकमेल करने वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।