बुझ गई उरेड़़ा की लौ, तीन सप्ताह से अंधेरे में गौड़ार गाँव

बुझ गई उरेड़़ा की ''लौ''
 तीन सप्ताह से अंधेरे में गौड़ार गाँव

सरकारों की घोर उदासीनता के चलते नरकीय जीवन जीने को मजबूर ग्रामीण 

-कुलदीप राणा ‘‘आजाद’
रूद्रप्रयाग। आजादी के 70 वसंतों से अधिक समय व्यतीत होने के बावजूद भी रूद्रप्रयाग जनपद के उखीमठ विकासखण्ड का अंतिम गांव गौड़ार तक बिजली जैसी बुनियादी और महत्वूपूर्ण सुविधा न पहुंच पाना हमारी सरकारों की घोर उदासीनता, नाकारेपन को दर्शाता है। अंतिम छोर तक विकास की किरण पहुँचाने का ढ़िढौरा छाती पीट-पीट कर ठोकने वाले नेताओं और सरकारों! जरा देखिए इस 21वीं सदी में भी गौड़ार गाँव विद्युत व्यवस्था से वंचित है। इस गाँव के लिए कहां गई तुम्हारी योजनाएं? कुटीर ज्योति और जीवन ज्योति जैसी योजनाओं से छाती फुलाने वाली सरकारों इस गाँव के लिए कहाँ गई तुम्हारी योजनाएं। 
उखीमठ विकासखण्ड का दूरस्थ गाँव गौड़ार के ग्रामीण आज भी आदिमानवों की तरह जीवन व्यतीत कर रहे हैं। सड़क मार्ग से 8 किमी से अधिक पैदल दूरी इस गांव में पहुंचने के लिए तय करनी पड़ी है। जबकि बिजली जैसी सुविधा न हाने के चलते ग्रामीण शाम ढलते ही घरों के अंदर कैद हो जाते हैं। दो वर्ष पूर्व उरेड़ा विभाग करोड़ों रूपयों की लागत से गांव के नजदीक बहने वाले गदेरे में एक जल विद्युत परियोजना का निर्माण किया गया जिसके द्वारा गांव को बिजली मुहैया करवाई जा रही थी। ग्रामीणों को इस बात की खुशी थी कि कम से कम उनके घरों में आजादी के 70 साल बाद बिजली स्वरूप उजियारा तो हुआ। लेकिन ग्रामीणों को क्या पता था कि उरेडा की यह लौ जल्दी ही बुझ जायेगी। समय समय पर सही मेंटिनेंस न होने के कारण यह विद्युत व्यस्था खराब होती चली गई। जबकि बरसात के समय पानी के तेज वेग के साथ कई तकनीकी फाल्ट भी आ जाते हैं लेकिन विभाग का  यहां कोई इंजीनियर और तकनीशियन तैनात न होने के कारण लम्बे समय से इसे ठीक नहीं किया जा रहा है। जिससे पिछले 20 दिनों से अधिक समय से ग्रामीण अंधेरे में। 
गौड़ार गांव वर्षोंं से सड़क और बिजली जैसे बुनियादी सुविधाओं की मांग करता आ रहा है लेकिन सेंचुरी के नाम पर ग्रामीणों को इन सुविधाओं से वंचित किया जा रहा है। सबका साथ सबका विकास  का नारा देने वाली उत्तराखण्ड की डब्बल इंजन की सरकार भाजपा सरकार जरा देखिए! न तो यहां तुम्हारा डबल इंजन काम आ रहा है और न तुम्हारी सबका साथ सबका विकास की नीति। 
बुझ गई उरेड़़ा की लौ, तीन सप्ताह से अंधेरे में गौड़ार गाँव बुझ गई उरेड़़ा की लौ, तीन सप्ताह से अंधेरे में गौड़ार गाँव Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on August 22, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.