केदारघाटी में मशरूम से स्वरोजगार अपनाने की क्रांति


केदारघाटी में मशरूम से स्वरोजगार अपनाने की क्रांति, हिमालयन ग्रामीण विकास संस्था दे चुकी 650 से अधिक महिलाओ को प्रशिक्षण

-केदारखण्ड ऐक्सप्रेस डैस्क
रूद्रप्रयाग। पहाड़ी क्षेत्रों में आज पलायन विकराल रूप धारण किये हुए हैं। अच्छी शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के लिए लगातार पहाड़ के गांव खाली होते जा रहे हैं। पलायन को रोकने के लिए सरकारों ने कागजी योजनाएं तो बहुत चलाई हैं, पलायन आयोग का भी गठन किया है लेकिन व्यावहारिक रूप में आज भी सरकार की योजनाएं परवाना नहीं चढ़ पाई हैं। लेकिन कुछ जूनूनी लोग हैं जो सरकार की तमाम नीतियों और और योजनाओं को आईना दिखा रहे हैं, और गावों में ग्रामीणों को स्वरोजगार की ओर प्रेरित कर पहाड़ के पलायन को रोकने में अपनी अहम भूमिका निभा रहे हैं।
 जनपद के विकाखण्ड उखीमठ में हिमालयन ग्रामीण विकास संस्था द्वारा पिछले दो माह से केदारघाटी के विभिन्न गाँवों में मशरूम उत्पादन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। संस्था द्वारा अब तक केदारघाटी के 15 गाँवों के 650 से अधिक महिला और पुरूषों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। संस्था के अध्यक्ष डाॅ0 कैलाश पुष्पवाण ने बाताया कि वे प्रथम चरण में उखीमठ विकासखण्ड के सभी गाँवों को प्रशिक्षण देना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि मशरूम उत्पादन के प्रति ग्रामीण महिलाओं की बढ़चढ़ कर भागीदारी की जा रही है जिससे मशरूम के जरिए स्वरोजगार की दिशा में एक नई क्रांति आ चुकी है।

हिमालयन ग्रामीण विकास संस्था द्वारा पिछले दो माह में 15 गाँवों में प्रशिक्षण दिया गया है जिसमें कई लोगों ने व्यवसाय के तौर पर मशरूम का उत्पादन करना आरम्भ कर दिया है। उत्थींड गांव की बचनी देवी, आरती, हुड्डू के शिशुपाल सिंह, उषाड़ा के महावीर बजवाल, अंजू देवी, चोपड़ा की सुनीता देवी, किमाणा की सुलेखा देवी व गुड्डू देवी द्वारा मशरूम का उत्पादन कर आस-पास के क्षेत्रों व बाजारों में विक्रया जा रहा है। खास तौर पर दिलमी गांव की राखी सेमवाल और स्यामार गांव की बबीता सेमवाल द्वारा बड़े पैमाने पर मशरूम का उत्पादन किया जा रहा है। मशरूम की डिमांड इतनी अधिक है कि स्थानीय बाजारों में ही पूरी खपत नहीं हो पाती है। ग्रामीणों द्वारा लगातार इस दिशा में कार्य किया जा रहा है।
 
केदारघाटी में मशरूम से स्वरोजगार अपनाने की क्रांति केदारघाटी में मशरूम से स्वरोजगार अपनाने की क्रांति Reviewed by केदारखण्ड एक्सप्रेस on July 28, 2019 Rating: 5
Powered by Blogger.